नई दिल्ली, टेक डेस्क। डिजिटल लर्निंग के अवसरों को बढ़ावा देने की टेक कंपनी एचपी इंडिया ने भारत के लिए एक घोषणा की है। इसके तहत वह HP ALFA (ऐक्सेसिबल लर्निंग फॉर ऑल) प्रोजेक्ट के अंतर्गत 2000 डिजिटल क्लासरूम की सुविधा उपलब्ध कराएगी। इन डिजिटल क्लासरूम्स को नवीं से लेकर बारहवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए 17 राज्यों के सरकारी या सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में स्थापित किया जाएगा। कंपनी का यह कदम भारत सरकार की नई शिक्षा नीति NEP 2020 को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।

क्या क्या होगा hp के Digital Classroom में 

एचपी डिजिटल क्लासरूम का निर्माण करने के लिए कॉरपोरेट फाउंडेशन और एनजीओ को आंमत्रित कर रही है। कंपनी ने इसके लिए आवेदन अंतिम तारीख 7 अक्टूबर 2022 रखी गई है। हालांकि कंपनी ने बताया है कि क्लासरूम को टेक्नोलॉजी से लैस बनाने के लिए ज़रूरी खर्च वह खुद उठाएगी। एचपी सभी क्लासरूम में मल्टी-फंक्शन प्रिंटर, वेबकैम, शिक्षकों के लिए एक लैपटॉप, स्मार्ट टीवी, एंड्रॉयड बॉक्स और कनेक्टिविटी के लिए इंटरनेट डोंगल जैसी चीजें मुहैया कराएगी। इस कार्यक्रम को लागू करने की ज़िम्मेदारी एचपी के एनजीओ पार्टनर NIIT फांउडेशन की होगी। 

NCERT पाठ्यक्रम का इस्तेमाल होगा क्लासरूम में 

कंपनी ने साफ किया है कि उसके नए डिजिटल क्लासरूम में  NCERT (नेशनल काउंसिल फॉर एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग) के दीक्षा कोर्स कॉन्टेंट और पाठ्यक्रम का ही इस्तेमाल किया जाएगा। यह प्रोजेक्ट ध्यान रखेगा कि ये छात्र डिजिटल कॉन्टेंट और ई-लर्निंग के टूल्स का भरपूर उपयोग करें और सीखने की अपनी यात्रा को बेहतर बनाएं। इस प्रोजेक्ट के लिए सभी स्कूलों में शिक्षक प्रशिक्षण सत्रों का आयोजन भी किया जाएगा जिससे क्लासरूम में वे टेक्नोलॉजी आधारित शिक्षा को पहुंचा सकें और छात्रों को अपने साथ जोड़ सकें। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत अलग-अलग राज्यों के बोर्ड और कॉन्टेंट उपलब्ध कराने वाली निजी कंपनियों से भी साझेदारी करने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं, ताकि चुनिंदा जगहों पर स्थानीय भाषाओं में कोर्स मैटेरियल उपलब्ध कराया जा सके। अकादमिक विषयों के अलावा इस प्रोजेक्ट में भारत सरकार की ओर से मान्यता प्राप्त अन्य कार्यक्रम और ईडीपी (EDP Entrepreneurship Development Program) कोर्स भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

कहाँ शुरू होगा एचपी अल्फा प्रोजेक्ट 

इस प्रोजेक्ट को कुछ चरणों में बांटा गया है। पहले चरण में उन कॉरपोरेट फाउंडेशन को शामिल किया गया है जो ऐसे सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के साथ काम करते हैं। इसके लिए विद्यालयों में कक्षा 9 वीं से 12वीं के छात्र ही होंगे। इसमें मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली/एनसीआर, हरियाणा, छत्तीसगढ़, पंजाब,गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, दमन और दीव, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड के स्कूल शामिल हो सकते हैं। इन सभी राज्यों के विद्यालयों को एचपी अल्फा (ऐक्सेसिबल लर्निंग फॉर ऑल) प्रोजेक्ट के लिए आवेदन करना होगा।

कहां करना होगा आवेदन

इस प्रोजेक्टर के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 7 अक्टूबर 2022 है। विद्यालयों को इसके लिए hp इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

 यह भी पढ़ें-  दिखने लगा डिजिटल इंडिया का असर, भारत में अब इस मामले में जर्मनी, चीन और दक्षिण अफ्रीका से आगे 

Edited By: Kritarth Sardana