नई दिल्ली। नोटबंदी के इस माहौल में पेटीएम ने एक बड़ी घोषणा की है। पेटीएम ने सभी यूजर्स को पेटीएम वॉलट में मौजूद पैसे को अपने बैंक अकाउंट्स में ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान की है। इसके लिए यूजर्स को महज 1 फीसदी का फ्लैट चार्ज देना होगा। इस सुविधा का इस्तेमाल सभी यूजर्स कर सकते हैं चाहें उन्होंने KYC की औपचारिकताएं पूरी की हों या नहीं। आपको बता दें कि बड़े नोट बंद होने के बाद से पेमेंट के लिए मोबाइल वॉलेट का चलन काफी बढ़ गया है।

पेटीएम को मिल रहा फायदा?

खबरों की मानें तो मोबाइल वॉलेट का सबसे बड़ा फायदा पेटीएम को हुआ है। कंपनी ने दावा किया है कि पिछले 3 दिनों में करीब 8 लाख 50 हजार से ज्यादा मर्चेंट्स और 30 लाख से ज्यादा यूजर्स ने पेमेंट के लिए उसकी सर्विसेज का इस्तेमाल किया है। आपको बता दें कि अगर किसी यूजर ने KYC की औपचारिकताएं पूरी नहीं की हैं तो उनके लिए तीन दिन का वेटिंग पीरियड होगा। इसके बाद ही वो अपने बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे। वहीं, जिन लोगों ने KYC की डीटेल्स दी हैं वो तुरंत ही पैसा ट्रांसफर कर पाएंगे। पेटीएम के मुताबिक, कम से कम 100 रुपये बैंक खाते में ट्रांसफर किए जा सकेंगे।

क्या है KYC?

KYC के लिए यूजर या तो पेटीएम एजेंट को अपने घर बुला सकता है या फिर अपने नजदीकी पेटीएम KYC सेंटर पर जा सकता है। यूजर को अपने साथ आधार कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी, डीएल, नरेगा जॉब कार्ड में से किसी एक की फोटोकॉपी लेकर जानी होगी। अगर आप 50,000 रुपये से ज्यादा का ट्रांजैक्शन करना चाहते हैं तो आपको पैन कार्ड की फोटोकॉपी जमा करनी होगी।

आपको बता दें कि इससे पहले पेटीएम KYC भरने वालों से 1 पर्सेंट और KYC न भरने वालों से 4 पर्सेंट चार्ज लेता था। नए मेंबर्स के लिए वेटिंग पीरियड भी 45 दिनों का था। कंपनी के मुताबिक, इस सर्विस से यूजर पेटीएम की ओर ज्यादा आकर्षित होंगे।

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस