नई दिल्ली, टेक डेस्क।भारतीय स्टेट बैंक (SBI) एक नए घोटाले की चेतावनी अपने यूजर्स को दे रहा है। इसने बताया कि घोटालेबाज पैसे और व्यक्तिगत विवरण चोरी करने के लिए इसका उपयोग कर रहे हैं। प्रेस सूचना ब्यूरो (PIB), जो सरकारी नीतियों, कार्यक्रमों, पहलों और उपलब्धियों पर प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को सूचना प्रसारित करता है, इस नए SMS घोटाले के बारे में SBI यूजर्स को चेतावनी दे रहा है।

PIB SBI यूजर्स को उन संदेशों से सावधान रहने को कह रहा है, जो उन्हें सूचित करते हैं कि उनका अकाउंट ब्लॉक कर दिया गया है। कथित तौर पर स्कैमर्स इस तरह के अलर्ट SMS के जरिए भेज रहे हैं। एजेंसी SBI यूजर्स को इस तरह के मैसेज या कॉल का जवाब न देने की चेतावनी दे रही है। इन यूजर्स से यह भी अनुरोध है कि मैसेज के साथ आने वाले किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। यूजर्स को चेतावनी देने के लिए सरकारी एजेंसी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल का सहारा लिया। एक ट्वीट में, PIB ने लिखा कि एक संदेश जो सर्कुलेशन में है, जिसमें दावा किया गया है कि आपका @TheOfficialSBI खाता ब्लॉक कर दिया गया है, वह #FAKE है।

इसके अलावा PIB यूजर्स को इस बात की भी जानकारी दे रहा है कि उन्हें क्या नहीं करना चाहिए:

  • अपने व्यक्तिगत या बैंकिंग विवरण साझा करने के लिए कहने वाले ईमेल/SMS का जवाब ना दें
  • अगर उन्हें ऐसा कोई संदेश प्राप्त होता है, तो वे तुरंत रिपोर्ट.फ़िशिंग @sbi.co.in पर रिपोर्ट करें और बैंक तत्काल कार्रवाई करेगा।

पीबीआई आगे बताता है कि स्कैमर्स, नकली SBI संदेश के माध्यम से, यूजर्स को अपने व्यक्तिगत "दस्तावेज़" जमा करने के लिए कहते हैं क्योंकि खाता "ब्लॉक" हो गया है। मैसेज के जरिए स्कैमर्स यूजर्स को मैसेज के साथ भेजे गए लिंक पर क्लिक करने के लिए कहते हैं ताकि उनका अकाउंट फिर से एक्टिवेट हो सके।

इस धोखाधड़ी के संदेश में लिखा होता है कि प्रिय खाताधारक एसबीआई बैंक के दस्तावेज़ समाप्त हो गए हैं, खाता ब्लॉक हो जाएगा अब नेटबैंकिंग द्वारा http://sbikvs.II अपडेट पर क्लिक करें।

यदि आप संदेश को करीब से देखते हैं, तो आप जान सकते है कि यह SBI से नहीं भेजा गया है। इसमें व्याकरण संबंधी त्रुटियां, फॉर्मेट की समस्या, विराम चिह्न की समस्याएं शामिल हैं, और यहां तक कि लिंक एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर भी नहीं है। बता दें ये बैंक हमेशा आधिकारिक बैंक संपर्क से SMS भेजते हैं। इन स्कैम किए गए संदेशों में अक्सर व्याकरण संबंधी त्रुटियां होती हैं और इस मामले में भी ऐसा ही कुछ देकने को मिला है। यह पहली बार नहीं है जब स्कैमर्स SBI यूजर्स को फर्जी मैसेज और दुर्भावनापूर्ण लिंक से निशाना बना रहे हैं। इससे पहले, स्कैमर्स ने SBI यूजर्स से उनके द्वारा भेजे गए लिंक पर क्लिक करके अपना KYC करने के लिए कहा था, जिसके लिए उन्हें अपने बैंकिंग और व्यक्तिगत विवरण दर्ज करने की आवश्यकता थी।

Edited By: Ankita Pandey