नई दिल्ली, टेक डेस्क। लोकप्रिय सर्च इंजन और टेक्नोलॉजी कंपनी Google ने कोरोनावायरस से संबंधित ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए वेबसाइट लॉन्च की है। इस समय कोरोनावायरस की वजह से दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में लॉकडाउन है। जिसकी वजह से लोग अपने घरों में रह रहे हैं और ज्यादातर डिजिटल ट्रांजेक्शन कर रहे हैं। पिछले दिनों कोरोनावायरस संबंधित कई ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले सामने आए हैं जिसे देखते हुए Google ने इस वेबसाइट को लॉन्च किया है। Google के इस वेबसाइट की मदद से लोगों को ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए जागरुक किया जाएगा।

यूजर्स को पिछले दिनों कोरोनावायरस से संबंधित कई फर्जी NGO के नाम से डोनेशन के लिए ई-मेल आ रहे हैं। लोग मदद करने के लिए जैसे ही ट्रांजेक्शन करते हैं ऑनलाइन धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं। Google ने इस वेबसाइट को हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में लॉन्च किया है। जल्द ही इसे अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी लॉन्च किया जा सकता है। यह वेबसाइट यूजर्स को ई-मेल में आए लिंक और ई-मेल अड्रेस को डबल चेक करने के लिए चेतावनी भी देता है। ज्यादातर फर्जी वेबसाइट में अधिक शब्द या लेटर होते हैं, जिसे डेस्कटॉप यूजर्स URL पर क्लिक करने से पहले होवर करके चेक कर सकते हैं। वहीं, मोबाइल यूजर्स URL या लिंक पर लॉन्ग प्रेस करके चेक कर सकते हैं।

पिछले कुछ सप्ताह में Google के एडवांस मशीन लर्निंग सिस्टम में कोरोनावायरस से संबंधित 18 मिलियन मेलवेयर और फिशिंग अटेम्ट डेली बेसिस पर रिकॉर्ड किए जा रहे हैं। साथ ही, 240 मिलियन से ज्यादा कोरोनावायरस से संबंधित स्पैम (फर्जी) मैसेजेज भी रिकॉर्ड किए गए हैं। Google ने बताया कि उसने Google के प्रोडक्ट्स के लिए एडवांस सिक्युरिटी प्रोटेक्शन डिजाइन किया है। जिसकी मदद से किसी भी तरह की फिशिंग या धोखाधड़ी की अपने आप पहचान की जा सकती है। Gmail में एडवांस मशीन लर्निंग की मदद से 99.9 प्रतिशत फिशिंग, स्पैम और मेलवेयर को डिटेक्ट कर लिया जाता है। Google के इस वेबसाइट की मदद से लोगों को ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए जागरूक किया जा सकता है।

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस