नई दिल्ली (रॉयटर्स). वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म Google ने चीनी प्रोपेगैंडा के खिलाफ बड़ी डिजिटल स्ट्राइक की है। Alphabet ओन्ड वीडियो शेयरिंग प्लेफॉर्म YouTube ने गलत सूचनाएं फैलाने वाले करीब 2500 YouTube चैनल को बंद करने का ऐलान किया है। Google ने जिन YouTube चैनल को बंद करने का ऐलान किया है, उन पर दुनियाभर में चीनी प्रोपेगैंडा को फैलाने का आरोप है। Google की तरफ से कहा गया कि इन Youtube चैनल को अप्रैल से जून के दौरान हटाया गया है। कंपनी ने अपनी जांच में पाया है कि इन Youtube चैनल चीन से जुड़ाव रखते हैं और चीन के समर्थन में वीडियो पोस्ट करते हैं। कंपनी ने अपनी तिमाही रिपोर्ट में इसका खुलासा किया। 

Twitter ने भी बंद किए थे अकाउंट

Google की तरफ से डिलीट किए गए चीनी प्रोपेगैंडा वाले Youtube चैनल के नाम का खुलासा नही किया है। साथ ही Google की इस कार्रवाई पर अमेरिकी स्थित चीनी दूतावास ने अभी तक कोई कमेंट भी नही किया है। हालांकि बीजिंग का इस तरह के आरोपों से इनकार का पिछला लंबा रिकॉर्ड रहा है। इससे पहले इसी साल अप्रैल में जब Twitter ने गलत सूचनाएं फैलाने के आरोप में सैकड़ों चीनी Twitter अकाउंट को बंद कर दिया था, उस वक्त भी चीन ने इस तरह के आरोपों को खारिज कर दिया था। 

भारत ने की चीनी ऐप्स के खिलाफ कार्रवाई 

बता दें कि अमेरिका समेत दुनियाभर में चीन की गतिविधियों को काफी संदेहपूर्ण माना जाता है। खासकर कोरोना वायरस के फैलने के बाद से चीन को लेकर नकारात्मक माहौल जारी है। चीन ने दुनियाभर में तैयार अपने खिलाफ माहौल को दुरुस्त करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे Twitter और Youtube से अपनी इमेज बिल्डिंग की कोशिश की है। लेकिन चीन की इस तरह की हरकत के खिलाफ पिछले कुछ माह में टेक कंपनियों के तेजी से कार्रवाई करते हुए सैकड़ों चीनी अकाउंट को डिलीट किया है। बता दें कि भारत में राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं के मद्देनजर TikTok समेत 59 चीनी ऐप्स को बंद कर दिया था। इसके बाद अब अमेरिका में भी चीनी ऐप Tiktok को बंद करे की कोशिश हो रही है।  

(Written By-Saurabh Verma) 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस