नई दिल्ली, टेक डेस्क। टेक दिग्गज कंपनी के CEO सुंदर पिचाई ने यूजर्स को चेतावनी दी है। सुंदर पिचाई ने कहा है कि अगर वो किसी वेबसाइट पर लॉगइन करते हैं तो उनके पासवर्ड चोरी होने का खतरा बना रहता है। इन्होंने इस बात को लेकर ट्वीट किया है। ट्वीट में उन्होंने कहा है कि Google Chrome के लिए एक प्रोटेक्शन फीचर जारी किया गया है। कंपनी का कहना है कि इस नए फीचर के तहत अगर यूजर किसी मालवेयर से प्रभावित वेबसाइट पर जाते हैं तो उन्हें ब्राउजर की तरफ से रियल-टाइम अलर्ट दिया जाएगा।  

उन्होंने आगे लिखा है, "हम मालवेयर से प्रभावित वेबसाइटों पर जाने पर आपको सचेत करेंगे और डेस्कटॉप पर रियल टाइम के लिए फिशिंग प्रोटेक्शन को बढ़ा देंगे।" आपको बता दें कि फिशिंग एक सोशल इंजीनियरिंग अटैक है जिसका इस्तेमाल आमतौर पर यूजर्स का डाटा चोरी करने के लिए किया जाता है। इस डाटा में यूजर क लॉगइन क्रिडेंशियल और क्रेडिट कार्ड नंबर आदि शामिल होता है।

Google ने Better password protections in Chrome नाम से एक लेटेस्ट ब्लॉग भी एड किया है। इसमें कहा गया है कि Google ने इस तकनीक को पहली बार पासवर्ड चेकअप एक्सटेंशन के तौर पर पेश किया था। अक्टूबर में यह आपके Google अकाउंट में पासवर्ड चेक करने का एक हिस्सा बना था। इससे आप कभी भी पासवर्ड स्कैन कर सकते हैं। इसे Chrome में ब्राउज करने के साथ-साथ चेतावनी देने के लिए पेश किया गया था। Google ने दावा किया है कि हर रोज करीब 4 बिलियन से ज्यादा यूजर्स को चेतावनी दी जाती है कि वो मालवेयर से प्रभावित वेबसाइट्स पर जा रहे हैं।

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस