नई दिल्ली (टेक डेस्क)। सर्च इंजन गूगल ने बुधवार को अपने होम पेज पर बड़ा अलग डूडल बनाया। इस डूडल को पाई-डे की तीसवीं एनिवर्सरी के मौके पर होम पेज पर दिखाया गया है। हर साल 14 मार्च को पाई-डे मनाया जाता है।

पाई एक गणितीय कॉन्स्टेंट है। जो किसी सर्कल की परिधि और उसकी व्यास का औसत होता है। सर्कल का साइज कितना भी बड़ा हो, ये अनुपात कभी नहीं बदलता है। इसे हर साल 14 मार्च को इसलिए मनाया जाता है, क्योंकि 3/14 जो तारीख है वो पाई की वैल्यू को पहले दो दशमलव अंकों तक दिखाती है।

महान गणितज्ञ अर्किमिडीज ने इस सिद्धांत को स्थापित करने के लिए पॉलीगॉन का इस्तेमाल किया। जिसके बाद ये तय हुआ कि पाई की वैल्यू 22/7 है। पाई एक ग्रीक शब्द है, जिसका इस्तेमाल गणितीय समीकरण में अंक को बताने के लिए किया जाता है। सबसे पहले 1706 में विलियम जोंस द्वारा π का इस्तेमाल किया गया। लेकिन इसे लोकप्रियता 1737 में मिली जब स्विस गणितज्ञ लियोनार्ड यूलर ने इसे इस्तेमाल में लाना शुरू किया। सबसे पहले 1988 में भौतिक विज्ञानी लैरी शॉ ने पाई दिवस मनाया।

पाई ऐसा नंबर है, जिसका गणित और भौतिकी में ही इस्तेमाल होता है, ये अपरिमेय संख्या है, जिसे भाग देने पर कभी भी कोई संख्या दोहराई नहीं जाती है। पाई की दशमलव अंकों के बाद एक ट्रिलियन अंकों तक गणना की जा चुकी है। जियोमेट्री में पाई का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है। क्योंकि सर्कल की परिधि और व्यास निकालने में इसका इस्तेमाल होता है। ऐसे में कोन, सिलेंडर का आयत निकालना भी बिना पाई के संभव नहीं है।

गूगल ने अपने डूडल में पेस्ट्री, बटर, सेब और संतरे के छिलकों का इस्तेमाल किया है। गूगल के दूसरे G के लिए पाई का इस्तेमाल ही किया गया है। गूगल ने लिखा, 'आज के खूबसूरत डूडल को अवार्ड विनिंग पेस्ट्री शेफ ने बनाया है।'

यह भी पढ़ें:

इंटेक्स ने रिलायंस जियो के साथ 4G स्मार्टफोन्स पर फुटबॉल ऑफर देने के लिए की साझेदारी

अब 31 मार्च तक नहीं कराना होगा आधार से मोबाइल नंबर लिंक, समझिए पूरा प्रोसेस

दुनिया का सबसे छोटा मिनी पीसी Liva Q भारत में 13500 रुपये में लॉन्च, पढ़ें डिटेल्स

ई कॉमर्स वेबसाइट पर चल रही मोबाइल सेल, पढ़ें सभी ऑफर्स की डिटेल्स

हॉनर 9 लाइट vs शाओमी रेडमी नोट 5: जानें फीचर्स से लेकर कीमत तक सब कुछ

Posted By: Sakshi Pandya