नई दिल्ली, टेक डेस्क। स्मार्टफोन की ग्लोबल शिपमेंट में 1.2 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है। यह गिरावट 2019 की दूसरी तिमाही में दर्ज की गई है। मार्केट रिसर्चर Counterpoint के मुताबिक, पिछली तिमाही में 360 मिलियन यूनिट्स शिप किए गए जो पिछले साल के मुकाबले 1.2 फीसद कम है। अप्रैल से जून 2018 के बीच 364.3 मिलियन यूनिट्स स्मार्टफोन्स शिप किए गए थे। स्मार्टफोन्स की शिपमेंट में ये गिरावट चीन की वजह से स्मार्टफोन बाजार में आई मंदी की वजह से देखी गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, चीन की वजह से स्मार्टफोन बाजार में ये मंदी देखी जा रही है जो पिछले साल के साथ ही इस साल भी देखी गई है। पिछले दो साल से लगातार स्मार्टफोन बाजार में मंदी देखी जा रही है। आपको बता दें कि चीन का ग्लोबल शिपमेंट में एक चौथाई हिस्सेदारी है जो साल-दर-साल हर तिमाही में 9 फीसद गिर रही है। इस गिरावट का मुख्य कारण अमेरिका और चीन के बीच चल रहा ट्रेड-वॉर भी है।

यह भी पढ़ें- Lenovo Yoga S940 Ultraslim स्मार्ट लैपटॉप भारत में हुआ लॉन्च, AI फीचर्स से है लेस

Counterpoint के मुताबिक, भारत अभी भी शिपमेंट के लिहाज से सबसे बड़ा मार्केट रहा है दूसरी तिमाही में भारत में रिकार्ड 37 मिलियन यूनिट्स शिप हुए हैं। अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर के बावजूद Huawei की शिपमेंट में पिछली तिमाही में 4.6 फीसद की ग्रोथ देखी गई है। Huawei ने 16 फीसद का मार्केट शेयर कैप्चर किया है। कंपनी अगले आने वाली तिमाही में अपने होम मार्केट चीन में ज्यादा अग्रेसिव हो सकती है।

यह भी पढ़ें- Vivo S1 भारत से पहले पाकिस्तान में हुआ लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स

इस साल ग्लोबल स्मार्टफोन बाजार में सुस्ती का दूसरा सबसे बड़ा कारण है 5G स्मार्टफोन। कई ऑरिजिनल इक्वीपमेंट मैन्युफैक्चरर्स (OEM) बाजार में अपने 5G स्मार्टफोन को लाने की तैयारी कर रहे हैं। Samsung, Vivo, Huawei, Oppo समेत कई कंपनियों ने अपने 5G स्मार्टफोन को ग्लोबल बाजार में पेश कर दिया है। इस साल के अंत तक 20 मिलियन से ज्यादा 5G स्मार्टफोन की बिक्री का अनुमान है। स्मार्टफोन की ग्लोबल शिपमेंट में Samsung ने बाजी मारी है। पिछली तिमाही में कंपनी ने 76.6 मिलियन युनिट्स शिप किए हैं। Huawei ने 56.7 मिलियन और Apple ने 36.4 मिलियन युनिट्स ग्लोबल बाजार में शिप किए हैं।

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप