नई दिल्ली, टेक डेस्क। Elon Musk की Starlink ने भारत में अपनी आगामी सैटेलाइट-आधारित इंटरनेट सेवाओं की प्री-बुकिंग पर रोक लगा दी है। कंपनी ने यह कदम भारत सरकार के आदेश के तहत उठाया है। सरकार का कहना है कि स्टारलिंक को अभी तक इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए लाइसेंस नहीं मिला है।

भारत सरकार ने शुक्रवार को बयान जारी कर देश की जनता से स्टारलिंक की ब्रॉडबैंड सेवा की सब्सक्रिप्शन न लेने की अपील की थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्टारलिंक ने 1 नवंबर से अपनी इंटरनेट सेवाओं के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को शुरू करने के साथ-साथ विज्ञापन देना भी शुरू कर दिया था।

दूरसंचार विभाग (DoT) ने कहा है कि स्टारलिंक को अपनी ब्रॉडबैंड सेवाओं के लिए अभी तक लाइसेंस नहीं मिला है। कंपनी को भारतीय नियामक ढांचे का पालन करना होगा। साथ ही दूरसंचार विभाग ने देश के लोगों से इस तरह की सेवाओं की सब्सक्रिप्शन न खरीदने की भी अपील की है।

स्टारलिंक ने 5000 प्री-बुकिंग का आंकड़ा किया पार

एलन मस्क की स्टारलिंक ने हाल ही में इंटरनेट सेवा के लिए प्री-बुकिंग शुरू की थी। इसके बाद ही सरकार ने लोगों से सब्सक्रिप्शन न खरीदने की अपील की थी। बता दें कि स्टारलिंक ने कुछ समय पहले बयान जारी कर कहा था कि वह भारत में अपनी सेवाएं देने के लिए उत्सुक हैं। देश में प्री-बुकिंग की संख्या 5000 को पार कर चुकी है।

Edited By: Ajay Verma