नई दिल्ली, टेक डेस्क। स्पेस एक्स (SpaceX) का स्टारलिंक प्रोजेक्ट (Starlink project) अगले महीने यानी अक्टूबर से शुरू होने वाला है। यह एक ब्रॉडबैंड सेवा है और सैटेलाइट के जरिए लोगों तक इंटरनेट पहुंचाया जाएगा। यह जानकारी कंपनी के फाउंडर ऐलॉन मास्क (Elon Musk) ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर साझा की है।

ऐलॉन मास्क ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कंपनी को स्टारलिंक बीटा 10 के लिए यूजर्स से अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। इस शुक्रवार से बीटा 10.1 को रोलआउट किया जाएगा। इसके बाद अगले महीने यानी अक्टूबर से स्टारलिंक को ग्लोबली लॉन्च किया जाएगा। बता दें कि इस समय स्टारलिंक प्रोजेक्ट की टेस्टिंग 11 अलग-अलग देशों में की जा रही है।

स्पेसएक्स को बीटा सेवाओं के हिस्से के रूप में रेखांकित किया गया है। यूजर्स को अगले कई महीनों में अधिकांश स्थानों में 50Mbps से 150Mbps की स्पीड से डेटा मिल सकता है। इसकी लेटेंसी 20ms से 40ms हो सकती है। स्टारलिंक की सेवाओं को आने वाले समय में बेहतर भी बनाया जाएगा।

स्पेसएक्स का कहना है कि कंपनी ने अगस्त में 1 लाख यूजर्स को अपनी सेवाएं प्रदान की थी। उस दौरान मस्क को कई देशों की टेलीकॉम कंपनियों से लाइसेंस नहीं मिला था।

SpaceX का मिशन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्पेसएक्स का पहला निजी क्रू मिशन सफल हुआ है। तीन दिनों तक पृथ्वी की सतह से 590 किलोमीटर की ऊंचाई पर पृथ्वी की परिक्रमा करने के बाद क्रू ड्रैगन अंतरिक्ष यान 18 सितंबर, 2021 को शाम 7.06 बजे फ्लोरिडा के तट पर उतारा। इस मिशन में शिफ्ट 4 पेमेंट्स के संस्थापक और सीईओ जेरेड इस्साकमैन, कैंसर से बचे हेले अर्सीनॉक्स, भू-वैज्ञानिक सियान प्रॉक्टर और एयरोस्पेस कर्मचारी क्रिस सेम्ब्रोस्की शामिल थे। लॉन्च से पहले सबको छह महीने तक ट्रेनिंग दी गई थी।

बहु-दिवसीय यात्रा के दौरान, चालक दल ने पृथ्वी पर मानव स्वास्थ्य में सुधार के लिए और भविष्य की लंबी अवधि की अंतरिक्ष उड़ानों के दौरान वैज्ञानिक अनुसंधान किया। कुछ रिसर्च में स्पीड, नींद, हार्ट-रेट और लय, ब्लड ऑक्सीजन, केबिन न्वाइज और प्रकाश की तीव्रता को मापना शामिल था। इंस्पिरेशन4 मिशन ने सेंट जूड चिल्ड्रन रिसर्च हॉस्पिटल में कैंसर से पीड़ित बच्चों की मदद के लिए 210 मिलियन डॉलर से अधिक का फंड भी जुटाया।

Edited By: Ajay Verma