एपल ने अपने कल हुए इवेंट डब्ल्यूडब्ल्यूडीसी 2016 में सॉफ्टवेयर से संबंधित कई घोषणाएं की| इन्ही घोषणाओं में से आइए आपको कुछ अहम घोषणाओं के बारे में विस्तार से बताते हैं।
कंपनी ने अपने कीनोट एड्रेस में आखिरकार ओएस एक्स को ब्रांडिंग मैकओएस करने की जानकारी दी। अगले वर्जन को मैकओएस सियरा के नाम से जाना जाएगा। इसके बीटा वर्जन को जुलाई में रिलीज किया जाएगा और पॉलिश्ड प्रोडक्ट को साल के अंत तक लाया जाएगा। अफसोस की बात यह है कि फिलहाल नए ओएस के बारे में बहुत कुछ नहीं बताया गया है।


नए मैकओएस के कुछ फीचर की बात करें तो अब आप अपने एपल वॉच के जरिए मैक को अनलॉक कर पाएंगे। यह अब यूनिवर्सल क्लिपबोर्ड के साथ आएगा जो हर डिवाइस के साथ काम करेगा। इसमें अलग-अलग मैक मशीन के बीच डेस्कटॉप सिंक करने की क्षमता होगी। जगह बचाने के लिए नया फाइल सिंकिंग विकल्प दिया गया है। एपल पे और सिरी फॉर मैक, कुछ नए फीचर हैं जिन्हें मैकओएस का हिस्सा बनाया गया है। अब वॉयस पर आधारित इस वर्चुअल असिस्टेंट की मदद से यूजर अपने मैकबुक पर फाइल सर्च करने के अलावा बहुत कुछ कर पाएंगे। सिरी को एपल म्यूजिक और एपल पे जैसे एप के साथ भी इंटिग्रेट किया गया है, यानी इन्हें अब वॉयस के जरिए कमांड करना संभव होगा।


इस इवेंट की सबसे बड़ी घोषणा आईओएस 10 के बारे में थी। एपल के मोबाइल और टैबलेट ऑपरेटिंग सिस्टम के नए वर्जन को डेवलपर्स के लिए रिलीज कर दिया गया है। पहला बीटा वर्जन जुलाई में पेश किया जाएगा और आम लोगों के लिए यह साल के अंत तक उपलब्ध होगा।
कंपनी ने इसे अब तक का सबसे बड़ा आईओएस रिलीज बताया है। एपल ने आईओएस में 10 नए फीचर दिए हैं- ज्यादा नोटिफिकेशन के साथ आने वाला फिर से डिजाइन किया गया लॉक स्क्रीन, एप्स के साथ तेजी से संवाद करने की क्षमता और 3डी टच का विस्तार। आवाज पर आधारित वर्चुअल असिस्टेंट सिरी को थर्ड-पार्टी डेवलपर्स के लिए खोल दिया गया है। आने वाले समय में यूजर इस फीचर का इस्तेमाल एपल के अलावा अन्य एप्स और सर्विसेज में भी कर पाएंगे। सिरी को बेहतर बनाया गया है। यह अब नेटिव कीबोर्ड के साथ भी उपलब्ध होगा।
आईओएस 10 फोटोज एप में कई बड़े सुधार किए गए हैं। यह अब फेसियल, ऑब्जेक्ट और सीन रिकॉग्निशन फीचर से लैस रहेगा। ये सारे एक्शन अब मोबाइल डिवाइस पर ही होगा।


एपल मैप्स के लुक में भी बड़ा बदलाव किया गया है। यह जगहों के सुझाव के अलावा रूट के दौरान सर्च कर पाना, बेहतर यूजर इंटरफेस और ट्रैफिक की जानकारियों के साथ आएगा। इसके अलावा कंपनी ने घोषणा की कि प्लेटफॉर्म को डेवलपर्स के लिए भी खोला जा रहा है। अब यूजर मैप्स एप के अंदर ही रेस्टोरेंट खोज पाएंगे और उबर कैब बुक कर पाएंगे।


एपल म्यूजिक एप के लिए बहुत बड़ा अपग्रेड जारी किया गया है। नए डिजाइन में लाइब्रेरी, फॉर यू, ब्राउज, रेडियो और सर्च जैसे टैब अब निचले हिस्से में होंगे। इसमें एक नया लिरिक्स पैन भी दिया गया है। एपल न्यूज के इंटरफेस को भी फिर से डिजाइन किया गया है। नए फीचर में सब्सक्रिप्शन और ब्रेकिंग न्यूज नोटिफिकेशन के लिए नए लॉक स्क्रीन शामिल हैं।
आईओओएस 10 के नए फीचर में बेहतर होमकिट के साथ नया होम एप शामिल है। इस एप की मदद से यूजर मात्र एक जगह पर रहकर सभी होमकिट डिवाइस को कंट्रोल कर सकते हैं।


अब बात वॉचओएस की। एपल वॉचओएस 3 में कई सुधार किए जाने का दावा कर रही है, जैसे कि एप प्री-कैशे करके तुरंत ही खोलने की क्षमता। इसके अलावा बैकग्राउंड में एप इंफॉर्मेशन अपडेट करने की क्षमता। साइड बटन अब डॉक को खोलेगा। कंट्रोल सेंटर को शामिल किया गया है जिसे स्वाइप अप करके एक्सेस करना संभव है। बेहतर मैसेज रिप्लाई और स्क्रिबल करने की क्षमता जो हैंडराइटिंग को टेक्स्ट में तब्दील कर देता है। कई नए वॉच फेस पेश किए गए हैं। इन्हें यूजर स्वाइप करके बदल सकते हैं।


वहीं, टीवीओएस थर्ड जेनरेशन एपल टीवी के साथ पेश किया गया नया वर्जन कई बदलाव के साथ आता है। इस प्लेटफॉर्म पर अब 6000 एप्स हैं और 1,300 वीडियो चैनल हैं।
एक नया एपल टीवी रिमोट एप है जो टच, सिरी और मोशन कंट्रोल के साथ इंटिग्रेटेड है। कंपनी साइन-ऑन फीचर भी ला रही है जिससे यूजर के लिए केबल टीवी नेटवर्क पर साइन ऑन करना आसान हो जाएगा।

Posted By: Sakshi Pandya

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस