नई दिल्ली, टेक डेस्क। देश की दूसरी सबसे बड़ी टेलीकाॅम निर्माता कंपनी Bharti Airtel ने भारत में 5G सर्विस को रोलआउट करने के लिए यूएस की चिपसेट निर्माता कंपनी Qualcomm के साथ साझेदारी की है। इस साझेदारी को लेकर Airtel का कहना है कि वह Qualcomm के 5G RAN प्लेटफाॅर्म का उपयोग वर्चुअलाइज्ड और ओपन 5G नेटवर्क को रोलआउट करने के लिए करेगी। इस साझेदारी के साथ ही भारत में 5G राह अब आसान हो गई है।

Airtel ने एक प्रेस रिलीज में कहा कि ‘O-RAN एलायंस के बोर्ड मेंबर के रूप में यह देश के O-RAN के दृष्टिकोण के कार्यान्वयन के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही यह भी कहा गया है कि O-RAN की लचीली और स्केलेबल आर्किटेक्चर 5G नेटवर्क को मजबूत प्लेयर बनाने के लिए छोटे व मध्यम आकार के बिजनेस के लिए नए अवसर पैदा करेगी।’

Airtel और Qualcomm की साझेदारी के बाद देशभर में ‘लागत प्रभावी और शीघ्र तरीके’ से ब्राॅडबैंड सर्विसेज के तेजी से रोलआउट की अनुमति मिलने की उम्मीद है। यानि इस समझौते के बाद तीव्र गति से 5G सर्विस को देशभर में रोलआउट किया जाएगा। हाल ही में सामने आई ट्राई की एक रिपोर्ट में खुलासा किया गया था कि Airtel ने दिसंबर 2020 में 4.05 मिलियन वायरलेस सब्सक्राबर्स जोड़े है। मासिक सब्सक्राइबर्स की बात करें तो कंपनी अभी भी पहले स्थान पर कायम है।

रिपोर्ट के अनुसार Reliance Jio ने केवल 479,000 वायरलेस सब्सक्राइबर्स जोड़े। Airtel ने विजिटर लोकेशन रजिस्टर यानि VRL सब्सक्राइबर्स के मामले में जियो को पछाड़ दिया है। Airtel ने लगातार किसी भी अन्य टेलीकाॅम कंपनी की तुलना में अधिक सब्सक्राइबर्स जोड़े हैं। 31 दिसंबर 2020 ततक कंपनी ने कुल वायरलेस सब्सक्राइबर्स बेस को 4.08.7 मिलियन में 4.05 मिलियन वायरलेस सब्सक्राइबर्स जोड़े हैं। दिसंबर में जोड़ेे गए 478,917 ग्राहकों के साथ Reliance Jio काफी पीछे रहा। हालांकि, Jio के पास अभी भी अधिकतम बाजार हिस्सेदार 35,43 प्रतिशत है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप