हो सकता है आप अपने इंटरनेट का जितना बिल अदा कर रहे हैं, उसके मुकाबले फुल इंटरनेट स्पीड आपको नहीं मिल रही है। एक कमजोर वायरलेस कनेक्शन सभी के लिए बड़ी परेशानी का सबब बन जाता है। आज हम आपको बता रहे हैं वह तरीकें, जिन्हें अपनाकर आप अपने स्लो वाइ-फाइ कनेक्शन की स्पीड बढ़ा सकते हैं:

राउटर की लोकेशन चेंज करें: वायलेस नेटवर्क को बढ़ाने के लिए सबसे सिंपल तरीका है कि अपने राउटर की लोकेशन या पॉजिशन को चेंज करें। राउटर को दीवारों के बीच या किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के ऊपर न रखें। इससे सिग्नल खराब हो जाते हैं। ऐसे में इंटरनेट बार-बार डिस्कनेक्ट होता रहता है।

इंटरनेट मॉडम या राउटर को हमेशा 6 फीट ऊंचाई पर रखें। अगर घर की बाहरी दीवार पर राउटर लगाएंगे तो सिग्नल बाहर जाएंगे, इसलिए ऐसा करने से बचें।



वायलेस राउटर पर एक अच्छा एंटीना जोड़ें: कभी-कभी राउटर को एक जगह से दूसरी जगह करना संभव नहीं हो पाता या फिर स्पीड बढ़ाने के लिए काफी नहीं रहता। ऐसे में एंटिना को रिप्लेस करना परफार्मेंस बढ़ाने के लिए अगला कदम हो सकता है। यदि राउटर एक घर के कोने में हैं या फिर डिवाइस की एक्सेस लोकेशन से दूर है, तब एक हाइ-गेन डायरेक्शनल वाइ-फाइ एंटीना सिग्नल स्ट्रेंथ बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है। यदि राउटर बहुत ज्यादा दीवारों के नजदीक या या रुकावटों बीच लगाया गया है, तब एक एक्सटर्नल वाइ-फाइ एंटीना सिग्नल की स्ट्रेंथ को बढ़ाएगा।

सेटिंग्स अपडेट करें: वाइ-फाइ सिग्नल बूस्ट करने के लिए सबसे बेहतर तरीका है कि इसका सॉफ्टवेयर और डाटा अपडेट कराते रहें। माइक्रोसॉफ्ट द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस की मानें तो हमेशा डिवाइस को अपडेट कराते रहना चाहिए। इसके लिए मॉडम वेंडर या सर्विस प्रोवाइडर की मदद ले सकते हैं। वाइ-फाइ डिवाइस जैसे राउटर, डिजिटल वॉच, कंप्यूटर, एक्सेसरीज, मोबाइल फोन, डिजी कैम सभी में फर्मवेयर होता है जो डिवाइस को कंट्रोल करता है।

हार्डवेयर का ख्याल रखें: अपने वाइ-फाइ सिग्नल को बूस्ट करने के लिए रिपीटर या पुराने राउटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आपका घर बड़ा है और मॉडम या राउटर किसी एक फ्लोर पर है तो सिग्नल को बढ़ाने के लिए रिपीटर्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आपको डीलिंक या नेटगियर जैसी कंपनियों के रिपीटर मिल जाएंगे, जो मॉडम से कनेक्ट होते ही सिग्नल को बेहतर तरह से नेविगेट करेंगे।

बैकग्राउंड टास्क को बंद करें: किसी भी सामान्य यूजर के कंप्यूटर, टैबलेट या फोन में ऑनलाइन बहुत सारे एप्स चलते रहते हैं। इस बात पर कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए कि ये बैकग्राउंड टास्क स्लोडाउन का एक और कारण बनते हैं। प्राइमरी ऑनलाइन टास्क की स्पीड बढ़ाने के लिए नोटिफिकेशन्स को डिसेबल करें और इस्तेमाल नहीं होने वाली एप्लीकेशन्स को बंद करें।

अब गूगल बताएगा कौन सा फोन है आपके लिए बेहतर

Posted By: Monika minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस