नई दिल्ली, टेक डेस्क। इस समय देश के लगभग 50 फीसद से ज्यादा स्मार्टफोन यूजर्स के पास Android ओरियो 8.0 या उससे ऊपर के Android वर्जन वाले स्मार्टफोन्स हैं। हाल ही में Y. Shafranovich नाम के रिसर्चर ने इस बग का खुलासा किया है। उनके मुताबिक, हैकर्स OnePlus, Samsung, Vivo, Oppo जैसे Android 8 या उससे ऊपर के स्मार्टफोन्स को NFC बीमिंग के जरिए टारगेट कर रहे हैं। NFC बीमिंग की मदद से हैकर्स यूजर्स के स्मार्टफोन्स में मैलवेयर अटैक करा रहे हैं। Android 8 या उससे ऊपर के ऑपरेटिंग सिस्टम वाले डिवाइस में आई एक बग की वजह से हैकर्स मैलवेयर अटैक के जरिए डाटा चोरी कर लेते हैं। आपको बता दें कि मैलवेयर जब दो डिवाइस आसपास होती हैं तो Android बीम ऑटोमैटिक तरीके से एक दूसरे डिवाइस के डाटा को कॉपी कर लेते हैं।

हालांकि, Google इस बग को ठीक करने का प्रयास कर रहा है। ऐसे में आपको थोड़ी सावधानी बरतनी पड़ेगी, जिससे की आपके स्मार्टफोन का डाटा चोरी न हो सके। आपको बता दें कि Android बीम के जरिए ऐप इंस्टॉलेशन फाइल्स जिसे APK फाइल कहते हैं, इसमें सेंधमारी की जा सकती है। इस बग की वजह से Android यूजर्स का डाटा जब एक स्मार्टफोन से दूसरे स्मार्टफोन में ट्रांसफर होता है तो यूजर को मिलने वाले वॉर्निंग मैसेज को यह बग बाईपास कर देता है, जिसकी वजह से यूजर्स को पता नहीं चल पाता है कि उनका डाटा चोरी किया जा रहा है। Google ने अक्टूबर 2019 में इस बग से यूजर्स को बचाने के लिए सिक्युरिटी अपडेट भी रिलीज किया है।

कैसे बचें?

इस बग से बचने के लिए सबसे पहले जरूरी है कि यूजर अपने डिवाइस को Google के लेटेस्ट सिक्युरिटी अपडेट से पैच कर लें। जिन यूजर्स के पास Android One या स्टॉक Android वाला डिवाइस नहीं है वो अपने मैन्युफेक्चरर्स द्वारा जारी किए गए अपडेट को डाउनलोड कर लें। अगर, आप अपने डिवाइस को अपडेट नहीं कर पा रहे हैं तो NFC को स्वीच ऑफ कर दें। हालांकि, ये बग केवल NFC इनेबल्ड डिवाइस में ही काम करता है, ऐसे में जिन यूजर्स के डिवाइस में NFC फीचर नहीं है, उनके लिए कोई परेशानी नहीं होगी। आपको बता दें कि ज्यादातर प्रीमियम स्मार्टफोन्स में NFC फीचर दिए जाते हैं। आजकल कुछ मिड रेंज के स्मार्टफोन्स में भी यह फीचर दिया जाता है।

NFC कैसे करें स्वीच ऑफ?

दरअसल, NFC एक वायरलेस कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल है जो दो इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को आपस में कनेक्ट करता है। ये खासतौर पर पेमेंट सिस्टम के लिए इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही साथ कुछ ऑडियो डिवाइस भी इस फीचर के जरिए कनेक्ट होते हैं। NFC ब्लूटूथ की तरह ही काम करता है। पेमेंट सिस्टम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले इस कम्युनिकेशन सिस्टम में आई बग की वजह से ही यूजर्स को ज्यादा खतरा है। इसे स्वीच ऑफ करने के लिए अपने स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं, वहां कनेक्टिविटी ऑप्शन्स में जाकर इसे ऑफ कर दें। NFC ऑफ होने के बाद कोई भी डिवाइस आपके स्मार्टफोन को ट्रैक नहीं कर पाएगा और आपके स्मार्टफोन का डाटा सुरक्षित रहेगा।

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप