नई दिल्ली, टेक डेस्क। यूनिक आइडेंटिफिकेशन ऑथिरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने स्मार्टफोन यूजर्स के लिए नया ऐप लॉन्च किया है। प्राधिकरण ने यूजर्स को सलाह दी है कि वो अपने पुराने ऐप को अनइंस्टॉल करने के बाद ही नए ऐप को डाउनलोड करें। इस नए आधार ऐप को कई बदलाव के साथ लॉन्च किया गया है। इसमें यूजर्स का नाम, पता, जन्मतिथि, फोटोग्राफ आदि मेंशन होगा। साथ ही साथ ये नया ऐप किसी भी थर्ड पार्टी ऑर्गेनाइजेशन के ऐप को सपोर्ट नहीं करेगा। आज हम आपको नए mAadhaar ऐप के बारे में कुछ बड़ी बातों को बताने जा रहे हैं।

mAadhaar ऐप की बड़ी बातें

mAadhaar को Google Play Store या App Store से सबसे पहले डाउनलोड कर लें। ये एंड्रॉइड और iOS दोनों प्लेटफॉर्म पर काम करता है। डाउनलोड करने के बाद इसको पहली बार इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले अपने आधार कार्ड को इस ऐप में रजिस्टर करना होगा। इसके लिए आपको आधार कार्ड बनाते समय दिए गए मोबाइल नंबर के साथ ऐप को रजिस्टर करना होगा। इसके लिए आपको ऐप के सबसे ऊपर में दिए गए बैनर में दिए गए ‘रजिस्टर योर आधार’ पर टैप करना होगा।

इस पेज पर टैप करते ही आपको नया विंडो मिलेगा, जिसमें आपको अपने आधार नंबर को दर्ज करना होगा और OTP (वन टाइम पासवर्ड) के लिए इंतजार करना होगा। ओटीपी मिलते ही आप दिए गए विंडो में दर्ज करें। ऐसा करते ही आपका आधार कार्ड ऐप के साथ रजिस्टर हो जाएगा। ध्यान रहे की आपने पुराने ऐप को अपने डिवाइस से अनइंस्टॉल कर दिया हो। साथ ही साथ आप उसी मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करें जो आपके आधार कार्ड से लिंक हो।

मान लीजिए, अगर आपका आधार कार्ड खो गया हो और आप उसका प्रिंट दोबारा लेना चाहते हों तो आप नए mAadhaar ऐप के जरिए इसके लिए प्रिंट रिक्वेस्ट डाल सकते हैं। हालांकि, ये तब काम करेगा, जब आप अपने आधार कार्ड को नए ऐप के साथ रजिस्टर कर चुके हों। नए ऐप में आप ये भी देख सकेंगे कि आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड है या नहीं। आधार कार्ड को दोबारा प्रिंट कराने के लिए आपको Rs 50 का भुगतान करना होगा। पेमेंट करने के बाद ही आपकी ये रिक्वेस्ट पूरी होगी।

नए ऐप के जरिए आप अपने वर्चुअल आधार कार्ड को लोगों या संस्थाओं से शेयर कर सकेंगे। इसके लिए आपकोअपने आधार नंबर बताने की जरूरत नहीं होगी और आपका डाटा सुरक्षित होगा। ऐप में QR कोड दिया होगा, जिससे आप वर्चुअल आईडी क्रिएट करके लोगों से शेयर कर सकेंगे। ये ऑप्शन माई आधार में मिलेगा, जो कि ऐप के सबसे नीचे वाले बार में दिया गया है। वहां आप शो QR कोड या जेनरेट वर्चुअल आईडी वाले ऑप्शन देख सकते हैं।

यही नहीं, नए mAadhaar ऐप में आप अपने आधार कार्ड के ऑथेंटिकेशन हिस्ट्री को भी देख सकते हैं। इससे ये पता लग सकेगा कि आपका आधार कार्ड आपकी अनुमति के बिना कहीं यूज तो नहीं हुआ है, जो कि यूजर प्राइवेसी को बरकरार रखने के लिए बेहतर है।

अगर ऐसा कभी हुआ है तो आप अपने बायोमैट्रिक को लॉक भी कर सकते हैं। ऐप में आपकी बायोमैट्रिक डिटेल्स को टैम्पोररी लॉक या अनलॉक करने का ऑप्शन भी मिलता है। 

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप