नई दिल्ली (टेक डेस्क)। Google के लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम Android Q को इस साल रोल आउट किया जा सकता है। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में पिछले साल रोल आउट किए गए Android Pie से अलग 6 नए फीचर्स दिए जा सकते हैं। पिछले साल Google ने अपने ऑपरेटिंग सिस्टम Android Pie के लॉन्च के समय मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल लर्निंग पर जोर दिया था। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर फोकस किया जा सकता है। Google के इस साल होने वाले डेवलपर कांफ्रेंस Google IO 2019 में Android Q या एंड्रॉइड 10 को रोल आउट किया जा सकता है। हालांकि, फिलहाल इस ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी उपलब्ध नहीं है लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में 6 नए यूनिक फीचर्स दिए जा सकते हैं।

फोल्डेबल फोन सपोर्ट

जैसा कि आप जानते हैं कि इस साल Samsung, Huawei, Xiaomi जैसी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां नई टेक्नोलॉजी से लैस फोल्डेबल स्मार्टफोन्स पर फोकस कर रही हैं। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम को फोल्डेबल स्मार्टफोन सपोर्ट के साथ पेश किया जा सकता है। इस फीचर को Google के डेविड ब्रूक ने सैमसंग के फोल्डेबल स्मार्टफोन के साथ ही शोकेश किया था।

डार्क मोड

अभी तक आपने ऐप्स में डार्क मोड सपोर्ट देखा है। कई सोशल मीडिया ऐप्स इस डार्क मोड फीचर के साथ आते हैं। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सिस्टम-वाइड डार्क मोड फीचर के साथ पेश किया जा सकता है। हालांकि, Google ने इसके बारे में आधिकारिक घोषणा तो नहीं की है लेकिन इसके बारे में हिंट दे दी है। Google ने अपने कई ऐप्स में डार्क मोड सपोर्ट दिया है। इससे यह पता चलता है कि अगला ऑपरेटिंग सिस्टम इस फीचर के साथ आ सकता है।

बेहतर PiP (पिक्चर इन पिक्चर) मोड

Google ने पिछले साल पिक्चर इन पिक्चर मोड को अपने कई ऐप्स के लिए रोल आउट किया है। कई प्रीमियम स्मार्टफोन्स में भी यह फीचर दिया गया है। Google के इस लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम में पिक्चर इन पिक्चर मोड को और भी बेहतर बनाया जा सकता है। इस फीचर के जरिए यूजर्स एक साथ दो काम एक ही स्क्रीन पर कर सकते हैं। आप वीडियो स्ट्रीम करते समय या किसी अन्य काम के साथ एक ही स्क्रीन पर दूसरा काम भी कर सकते हैं।

फेस रिकॉग्निशन

आजकल लॉन्च होने वाले सभी स्मार्टफोन्स में फेशियल रिकॉग्निशन फीचर दिया जाता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम में इस फीचर को नेटिव सपोर्ट के साथ दिया जा सकता है। इसका मतलब यह है कि फेस रिकॉग्निशन फीचर को और भी बेहतर तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। साथ ही, कई स्मार्टफोन्स में यह फीचर काम करेगा।

परमिशन

इस फीचर के जरिए स्मार्टफोन में इंस्टाल हुए ऐप्स को यूजर्स को और ज्यादा परमिशन देना होगा। किसी भी ऐप को फुल फ्लेज एक्सेस के लिए परमिशन देना पड़ेगा।

ऐप डाउनग्रेड फीचर

इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में ऐप को डाउनग्रेड करने की सुविधा मिल सकती है। इस फीचर के जरिए आप अपने ऐक को पुराने वर्जन में डाउनग्रेड कर सकते हैं। यह फीचर अब तक रोल आउट हुए किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में उपलब्ध नहीं है। 

यह भी पढ़ें:

IRCTC अकाउंट बनाने के लिए अपनाएं ये आसान स्टेप्स

Redmi Note 7 Pro, Galaxy S10, Nokia 9 समेत ये स्मार्टफोन्स फरवरी में हो सकते हैं लॉन्च

Oppo K1 vs Nokia 7.1 vs Vivo V9 Pro: कीमत, फीचर और स्पेसिफिकेशन

Posted By: Harshit Harsh