नई दिल्ली, टेक डेस्क। माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट Twitter कमाई के नए जरिए के तौर पर सब्सक्रिप्शन मॉडल लेकर आ सकता है। इससे Twitter सीधे तौर पर यूजर्स से कमाई कर सकेगा। बता दें कि अभी तक Twitter विज्ञापन आधारित रेवेन्यू मॉडल पर काम करता था। लेकिन पिछले कुछ वक्त में Twitter की विज्ञापन से मिलने वाला रेवेन्यू घटा है, जिसके बाद से ही कंपनी ने सब्सक्रिप्शन मॉडल लागू करने की तरफ इशारा किया है। Twitter के दूसरी तिमाही के रेवन्यू रिपोर्ट पर गौर करें, तो Twitter की एडवरटाइजिंग रेवेन्यू में करीब 23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

रेवेन्यू जनरेट करने के तमाम विकल्प पर काम कर रहा Twitter

Twitter के सीईओ Dorsey ने कंफर्म किया कि वो सब्सक्रिप्शन मॉडल समेत रेवेन्यू जनरेट करने के तमाम अन्य विकल्प पर काम कर रहे हैं। इसमें से Twitter इस साल के अंत तक सब्सक्रिप्शन मॉडल की टेस्टिंग शुरू कर सकता है। Twitter का पेड सब्सक्रिप्शन मॉडल कंपनी को एडवरटाइजिंग और डाटा लाइसेंसिल के अलावा अन्य तरीकों से कमाई का मौका उपलब्ध कराएगा। बता दें कि जॉब लिस्टिंग के बाद से Twitter के शेयर में करीब 7 फीसदी का उछाल देखा गया था. हालांकि कंपनी के मुताबिक उसकी तरह से प्रीमियम फीचर्स के लिए यूजर्स को पे करने के लिए प्रोत्साहित करना काफी चुनौतीपूर्ण टास्क रहने वाला है। 

कैसे कर पाएंगे Twitter इस्तेमाल

Twitter का सब्सक्रिप्शन मॉडल लागू होने के बाद सभी यूजर्स को इस प्लेटफॉर्म का यूज करने के लिए एक पेड सर्विस लेनी होगी। ऐसा बिल्कुल नहीं है। हालांकि Twitter के कुछ खास फीचर्स का इस्तेमाल करने के लिए जरूर यूजर्स को पैसे चुकाने होंगे। मतलब यूजर्स पर तय करेगा कि वो कंपनी के प्रीमियम सर्विस का लुत्फ उठाने के लिए पे करना चाहता है या नहीं। बता दें कि मौजूदा वक्त में Twitter के अनुमानित डेली एक्टिव यूजर्स की संख्या 186 मिलियन है। Twitter अपने इन्हीं यूजर्स को मॉनिटाइज मॉडल के तरफ शिफ्ट करना चाहता है।

(Writter By- Saurabh Verma)

Jagran HiTech #NayaBharat सीरीज के तहत इंडस्ट्री के लीडर्स और एक्सपर्ट्स ने क्या कहा है, ये जानने के लिए यहां क्लिक करें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस