नई दिल्ली, टेक डेस्क। देश में कोविड 19 वैक्सीन का दूसरा चरण शुरू हो गया है लेकिन कुछ लोग अभी भी सोशल मीडिया पर वैक्सीन को लेकर गलत जानकारियां फैला रहे हैं। ऐसे में माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter ने इसके खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए ऐसे ट्वीट्स को लेबल करना शुरू कर दिया हे जिनमें कोविड 19 वैक्सीन के बारे भ्रामक जानकारी दी जा रही है। कंपनी का कहना है कि नियमों का उल्लंघन करने वाले अकाउंट को हटाने के लिए 'स्ट्राइक सिस्टम' का उपयोग किया जा रहा है। कंपनी ने कहा कि उसने यह मानने के लिए मानव समीक्षकों का उपयोग करना शुरू कर दिया है कि क्या ट्वीट्स COVID वैक्सीन गलत सूचना के खिलाफ उनकी नीति का उल्लंघन करते हैं? 

कोविड 19 से जुड़े भ्रामक मैसेजेस के खिलाफ Twitter इससे पहले भी कड़े कदम उठा चुका है। Twitter ने पिछले साल दिसंबर में कोविड से संबंधित गलत सूचनाओं पर प्रतिबंध लगाया था। जिसे झूठे दावे किए जा रहे थे कि वायरस कैसे फैलता है, क्या मास्क प्रभावी होता है और संक्रमण और मृत्यु का खतरा होता है। वहीं अब Twitter ने अपने ब्लॉग पोस्ट के जरिए जानकारी दी है कि स्ट्राइक सिस्टम का इस्तेमाल कर हम लोगों को शिक्षित करने की उम्मीद कर रहे हैं। ताकि पता चल सकें कि कुछ कंटेंट हमारे नियमों को क्यों तोड़ते हैं। इसलिए उनके पास सार्वजनिक बातचीत पर उनके व्यवहार और उनके प्रभाव पर विचार करने का अवसर है।'

खास बात है कि Twitter द्वारा लिए जा रहे एक्शन के तहत उल्लंघन करने वाले लोग किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं देख सकेंगे। दो स्ट्राइक से एक अकाउंट 12 घंटों के लिए लॉक रहेगा। पांच या उससे अधिक ट्विटर से एक उपयोगकर्ता को स्थायी रूप से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। पिछले साल Facebook ने भी वैक्सीन की गलत जानकारी के खिलाफ एक्शन लिया था। पिछले महीने Facebook ने एक विस्तारित नीति की घोषणा की,​जिसमें कोविड 19 ही नहीं बल्कि सारी वैक्सीन शामिल हैं।

Edited By: Renu Yadav