नई दिल्ली, टेक डेस्क। इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म Twitter ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है जिसमें उसने यूजर्स की मर्जी के बिना ही डाटा का इस्तेमाल Ad के लिए किया गया है। कंपनी ने अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में यूजर्स से माफी मांगते हुए का कि उसने एक साल तक बिना परमिशन के यूजर्स के डाटा का इस्तेमाल Ad के लिए हुआ है। कंपनी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में यह भी बताया है कि इस बग को फिलहाल फिक्स कर लिया गया है।

Twitter ने बताया कि पिछले साल मई 2018 में मोबाइल ऐप के जरिए जिसने भी एडवर्टाइजमेंट को देखा है वो यूजर्स इस ग्लिच की वजह से प्रभावित हुए हैं। Twitter ने जिस डाटा के बारे में बात की है उसमें यूजर्स के निजी कॉन्टैक्ट डिटेल्स जैसे की कंट्री कोड के साथ मोबाइल नंबर शामिल हैं। यूजर्स के इस डाटा का इस्तेमाल एडवर्टिजमेंट के लिए किया गया है। इसमें किसी भी ऐड को किस डिवाइस पर ओपन किया गया है ये भी जानकारी शामिल है।

Twitter ने अपने ब्लॉग में बताया कि आपने हम पर भरोसा किया है लेकिन हमने गलती से आपका भरोसा तोड़ा है। हम भविष्य में यह गलती आगे नहीं दोहराएंगे। इस डाटा ग्लीच के बाद Twitter भी Facebook एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट में शामिल हो गया है जिसके यूजर्स को डाटा लीक जैसी समस्या से जूझना पड़ा हो। हाल ही में, TrueCaller ऐप में भी एक बग देखा गया जिसमें यूजर्स की मर्जी के बिना TrueCaller Pay का UPI अकाउंट क्रिएट हो गया था। हालांकि, TrueCaller ने इसके लिए माफी मांगी और यूजर्स के अकाउंट्स को डी-रजिस्टर कर दिया।

Twitter ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि मई 2018 के बाद जिस भी यूजर्स ने मोबाइल ऐप के जरिए ऐड देखा है, उन यूजर्स का कंट्री कोड और ऐड की जानकारी आदि लीक हो गई है। यूजर्स की ये जानकारी बिना उनकी परमिशन के भी ऐडवर्टिजमेंट पार्टनर तक पहुंच गई। Twitter ने आगे कहा कि अगर कोई ये जानना चाहता है कि वे प्रभावित हुए हैं कि नहीं, इसके लिए हम फिलहाल इन्वेस्टिगेशन कर रहे हैं और जैसे जानकारियां इकठ्ठा होंगी हम अपने यूजर्स से शेयर करेंगे। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Harshit Harsh