नई दिल्ली (टेक डेस्क)। इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप Twitter भी फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए नया फीचर लाया है। इससे पहले फेसबुक और वॉट्सऐप ने फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए एक मुहिम शुरू की है। Twitter ने इस लोकसभा चुनाव के दौरान फेक न्यूज या मिस इन्फॉर्मेंशन को फैलने से रोकने के लिए यूजर्स को इसे रिपोर्ट करने के लिए नया फीचर जोड़ा है। इस नए टूल का इस्तेमाल यूजर्स वेब या ऐप के जरिए कर सकेंगे। लोकसभा चुनाव के दौरान फेक न्यूज और मिसलीडिंग इन्फोर्मेंशन फैलाने के लिए ट्वीटर, वॉट्सऐप और फेसबुक प्रमुख माध्यम है। केन्द्र सरकार ने इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को चेतावनी देते हुए मिस इन्फॉर्मेशन को फैलने से रोकने के लिए कहा था।

चुनाव के मद्देनजर उठाए कदम

बुधवार को इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म Twitter ने कहा, यह नया रिपोर्टिंग फीचर किसी भी मिसलीडिंग जानकारी और अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए लाया गया है जिसके जरिए फेक न्यूज फैलाने वाले यूजर्स इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किसी भी जानकारी को मैन्युप्लेट करने के लिए नहीं कर सकेंगे। अप्रैल में एक स्टडी में दो लोगों ने ये रिपोर्ट किया था कि उनके पास पिछले 30 दिनों में कई फेक न्यूज मिले हैं। Twitter का यह फीचर भारत में हो रहे लोकसभा चुनाव और यूरोपियन पार्लियामेंट के चुनाव को देखते हुए रोल आउट किया गया है।

इस तरह करें रिपोर्ट

इस नए फीचर का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को किसी भी ट्वीट को रिपोर्ट ट्वीट करने का ऑप्शन मिलेगा। किसी भी ट्वीट के ऊपर बने हुए ड्रॉप डाउन लिस्ट में आपको रिपोर्ट ट्वीट का ऑप्शन मिलेगा। आप वहां पर क्लिक या टैप करके किसी भी ट्वीट को रिपोर्ट कर सकते हैं। Twitter के अलावा गूगल और फेसबुक ने भी चुनाव में वोट के लिए कैसे रजिस्टर करें के बारे में लोगों को एजुकेट करना शुरू किया है। गूगल ने भी तीनों चरणों के मतदान के दिन डूडल बनाकर लोगों को वोट के लिए रजिस्टर करने की जानकारी दे रहा है।

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप