नई दिल्‍ली, एजेंसी। बिग टेक कंपनियों ने कर्मचारियों की छंटनी की और नई नियुक्तियों को रोक दिया है। मेटा (Meta) के संस्थापक और सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि कंपनी की योजना अगले साल कर्मचारियों की संख्या में लगातार कमी लाने की है। मंदी का डिजिटल विज्ञापन व्यवसाय पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। जुकरबर्ग ने कहा कि कई टीमें सिकुड़ने जा रही हैं, ताकि हम कंपनी के अंदर अन्य क्षेत्रों में ऊर्जा स्थानांतरित कर सकें। मैं अपने नेताओं को उनकी टीमों के भीतर फैसले लेने की क्षमता देना चाहता हूं। कंपनी की तिमाही आय कॉल के दौरान बुधवार को देर से आई।

उन्होंने कंपनी की तिमाही आय कॉल के दौरान बुधवार को विश्लेषकों को देर से बताया कि मैं अपने नेताओं को अपनी टीमों के भीतर यह तय करने की क्षमता देना चाहता हूं कि कहां दोगुना कमी करना है, कहां भरना है और लंबी अवधि की पहल के लिए पिटाई को कम करते हुए टीमों का पुनर्गठन कहां करना है।

फेसबुक ने दूसरी तिमाही में 1 प्रतिशत की गिरावट के साथ 28.8 अरब डालर के राजस्‍व की सूचना दी। बुधवार देर रात एक्सटेंडेड ट्रेडिंग में शेयरों में 3.8 फीसदी की गिरावट आई। तिमाही में कुल मिलाकर मेटा का मुनाफा 36 फीसदी गिरकर 6.7 अरब डालर रहा। जुकरबर्ग ने कहा कि उन्होंने इस साल की शुरुआत में बहुत सारे लोगों को काम पर रखा है, जिसका अर्थ है कि इसकी साल-दर-साल हेडकाउंट वृद्धि अभी भी अगली कुछ तिमाहियों के लिए पर्याप्त होगी, लेकिन समय के साथ इसमें गिरावट जारी रहनी चाहिए। एक ऐसी अवधि जो अधिक तीव्रता की मांग करती है। मुझे उम्मीद है कि हम कम संसाधनों के साथ और अधिक काम करेंगे।

इस माहौल में हम लंबी अवधि के निवेश करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जो हमें इस मंदी से बाहर आने के लिए मजबूत बना देगा, जिसमें हमारे डिस्कवरी इंजन और रील्स, हमारे नए विज्ञापन इंफ्रास्ट्रक्चर और मेटावर्स पर हमारा काम शामिल है। हालांकि, हाल के राजस्व में उतार चढ़ाव को देखते हुए हम इन निवेशों की गति को धीमा कर रहे हैं और कुछ खर्चों को आगे बढ़ा रहे हैं जो अगली तिमाही में आएंगे। मेटा सीईओ ने कहा कि साल या दो साल की लंबी अवधि के लिए।" मेटा के पास अब 83,553 है, जो कर्मचारियों की साल-दर-साल 32 प्रतिशत की वृद्धि है। माइक्रोसॉफ्ट, गूगल, स्नैप, ट्विटर, स्पॉटिफाई और अन्य जैसी कई बड़ी टेक फर्मों ने या तो अपने कर्मचारियों की संख्या को कम कर दिया है या शेष वर्ष के लिए कम/जमे हुए काम पर रखा है।

Edited By: Arun Kumar Singh