नई दिल्ली, टेक डेस्क। सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट Facebook के 267 मिलियन यानी 26 करोड़ 70 लाख यूजर्स का डाटाबेस सामने आया है जिसे कोई भी एक्सेस कर सकता है। इन जानकारियों में यूजर का नाम, फोन नंबर और यूजर आईडी समेत कई निजी डिटेल्स शामिल हैं। इस डाटाबेस को साइबर सिक्योरिटी फर्म Comparitech ने खोजा है। रिपोर्ट ने बताया है कि यूजर्स को फिशिंग स्कीम या स्पैम मैसेजेस की परेशानी को झेलना पड़ सकता है।

Comparitech के ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक, यह डाटाबेस पिछले हफ्ते डाउनलोड के लिए एक ऑनलाइन हैकर फोरम पर उपलब्ध था जो एक क्राइम ग्रुप से संबंधित है। हालांकि, अभी तक यह जानकारी सामने नहीं आ पाई है कि यह डाटा यहां तक कैसे पहुंचा। आपको बता दें जिन यूजर्स का डाटा इस डाटाबेस में मौजूद है उनमें सबसे ज्यादा अमेरिकी हैं।

इस मामले को लेकर Facebook के एक प्रवक्ता ने कहा है कि हम इस मामले की जांच कर रह हैं लेकिन जो डाटा ऑनलाइन पाया गया है वो कंपनी द्वारा पिछले कुछ वर्षों में किए गए बदलावों से पहले प्राप्त होने वाली संभावित जानकारी मालूम हो रही है। Comparitech के सिक्योरिटी रिसर्चर बॉब डियाचेनको ने इस डाटाबेस को स्पॉट किया था। यह डाटाबेस कोई भी एक्सेस कर सकता था। Comparitech के मुताबिक यहा डाटाबेस अब उपलब्ध नहीं है।

पिछले महीने आई एक खबर के मुताबिक, Facebook और Twitter यूजर्स का डाटा कुछ एंड्रॉइड ऐप डेवलपर्स के पास स्पॉट किया गया था। इनका मानना था कि हजारों यूजर्स का डाटा गलत तरीके से Google Play Store पर मौजूद थर्ड-पार्टी ऐप्स द्वारा एक्सेस किया जा रहा था। सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने बताया था कि One Audience और Mobiburn सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट्स (SDK) को यूजर डाटा का एक्सेस उपलब्ध कराया गया था। इसमें इमेल एड्रेस, यूजरनेम और रीसेंट ट्विट्स जैसे जानकारियां मौजूद हैं। खबर की पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें यहां

 

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस