नई दिल्ली, टेक डेस्क। WhatsApp को लेकर अब एक और परेशानी खड़ी होती नजर आ रही है। कश्मीर में इंटरनेट शटडाउन के चलते यहां के कई यूजर्स अपने आप ही WhatsApp ग्रुप्स से एग्जिट हो रहे हैं। वहीं, कई लोगों के WhatsApp अकाउंट डिलीट हो रहे हैं। इसे लेकर कश्मीरी यूजर्स ने स्क्रीनशॉट भी शेयर किए हैं। यूजर्स इस परेशानी को लेकर लगातार ट्वीट कर अपना रोष प्रकट कर रहे हैं। जबकि ये सब WhatsApp की पॉलिसी के चलते हो रहा है।

क्या है WhatsApp की पॉलिसी: WhatsApp पॉलिसी के मुताबिक, अगर किसी भी यूजर का अकाउंट 120 दिन तक इनेक्टिव यानी बिना इस्तेमाल किए रहता है तो यूजर का अकाउंट अपने आप की बंद हो जाता है। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में 4 महीने पहले इंटरनेट शटडाउन किया गया था। तब से लेकर अब तक यहां के यूजर्स के अकाउंट बंद हालत में थे। ऐसे में 120 दिन तक लगातार अकाउंट एक्सेस न होने के कारण अकाउंट बंद कर दिए गए।

WhatsApp के एक प्रवक्ता का कहना है कि अगर 120 दिन तक WhatsApp अकाउंट पर कोई एक्टिविटी नहीं की जाती है है तो WhatsApp अकाउंट अपने आप एक्सपायर हो जाते हैं। आसा सिक्योरिटी और लिमिट डाटा रिटेंशन को बनाए रखने के लिए किया गया है। इस स्थिति में यूजर WhatsApp ग्रुप से भी एग्जिट हो जाते हैं। कंपनी ने यह भी साफ किया है कि यह पॉलिसी केवल जम्मू-कश्मीर के लिए ही नहीं बल्कि सभी यूजर्स के लिए है।

ट्विटर पर शेयर हो रहे स्क्रीनशॉट्स:

ट्विटर यूजर और रिसर्चर खालिद शाह ने ट्वीट कर कहा है कि 4 महीने तक इनेक्टिविटी के लिए कश्मीर में यूजर्स के WhatsApp अकाउंट डिलीट हो रहे हैं। देखें ट्वीट:

एक यूजर ने ग्रुप की फोटो शेयर की है। यूजर ने ट्वीट में कहा है कि 4 महीने के कम्युनिकेशन ब्लैकआउट के बाद WhatsApp ने कश्मीरियों के अकाउंट डिलीट कर दिए हैं। देखें ट्वीट 

अन्य ट्वीट:

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021