नई दिल्ली, टेक डेस्क। Telegram, Whatsapp की ही तरह एक इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप है। हाल ही में कंपनी ने इस ऐप में सीक्रेट मैसेज करने का नया फीचर भी एड किया है। जहां, Whatsapp जैसे बाद मैसेजिंग प्लेटफार्म को फेक न्यूज फैलाने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है और कंपनी लम्बे समय से इससे निपटने के लिए उपाय कर रही है। वहीं, खबर आई है की Telegram मैसेजिंग ऐप का इस्तेमाल कर ISIS भारत के 3 राज्यों में बड़े अटक करने की योजना बना रहे थे। हालांकि, Telegram मैसेजिंग ऐप पर प्लान किए गए 3 शहरों में बड़े टेरर अटैक को नाकाम कर दिया गया है।

अधिकारियों के अनुसार ISIS आतंकी अपने अफगानिस्तान और भारत के साथियों के साथ मिलकर भारत में आतंकी गतिविधियों की योजना बना रहे थे। इसके लिए वो अलग-अलग Telegram ग्रुप्स का इस्तेमाल कर ले यंग मुसलमानों को उकसा रहे थे। एजेंसीज ने यह ट्रैक किया है की ऐसे 5 Telegram ग्रुप थे, जिनके जरिए आतंकी अपनी प्लानिंग कर रहे थे। यह भी बताया गया की ISIS ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 3 शहरों में अटैक के लिए 'Operation Green Birds' बनाया था। सेंट्रल एजेंसी के एक स्त्रोत के अनुसार, आतंकियों के 5 Telegram ग्रुप्स को पकड़ा गया है, जो भारत में बम धमाके करने की प्लानिंग कर रहे थे। इन ग्रुप्स में भारत के विरुद्ध कई हेट मैसेजेज किए गए थे।

अधिकारियों ने बताया की- मैसेजेज में 13 अगस्त को साऊथ दिल्ली में रेलवे स्टेशन पर अटैक या निजामुद्दीन से शुरू होने वाली ट्रैन के अंतर बम लगाने की योजना थी। ये अटैक्स करने के लिए युवाओं IED की मदद से बम बनाने की और स्मार्टफोन से उसे ट्रिगर करने की ट्रेनिंग दी जा रही थी। स्त्रोत के अनुसार, आतंकियों की योजना राजधानी एक्सप्रेस के B1 कोच को टारगेट करने की थी, लेकिन समय से इसका पता लग जाने से उनके मनसूबे नाकाम हो गए। Telegram के एक ग्रुप पर एक यूजर ने लिखा हुआ था की भारत को जल्द ही ISIS का हिस्सा बना लिया जाएगा।आतंकी प्लानिंग के लिए कोड वर्ड्स का इस्तेमाल कर रहे थे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sakshi Pandya