नई दिल्ली, टेक डेस्क। Google ने इस वर्ष  Play Store से 1,000 से ज्यादा ऐप्स रिमूव की हैं। इनमें से कुछ ऐप्स एडवेयर हैं तो कुछ मालवेयर से प्रभावित ऐप थीं। वहीं, इनमें से कुछ ऐप्स यूजर्स की बातचीत रिकॉर्ड करती थीं। इस रिकॉर्डिंग का यूजर्स को पता भी नहीं चलता है। हालांकि, इन सभी में सबसे खतरनाक कैटेगरी कुछ ऐसी ऐप्स की थी जो यूजर्स की फोटोज चुराती थीं। जैसे ही Google को इस बात का पता चला है वैसे ही कंपनी ने इस तरह की ऐप्स को Play Store से डिलीट कर दिया। हालांकि, ये ऐप्स यूजर्स के फोन में तब तक रहेंगी जब तक वो खुद इन्हें अपने फोन से डिलीट न कर दें। यहां हम आपको इन्हीं कुछ ऐप्स की जानकारी दे रहे हैं। ऐसे में अगर निम्न में से कोई भी ऐप आपके फोन में अब तक मौजूद है तो उसे तुरंत डिलीट कर दें।

ये हैं वो खतरनाक ऐप्स:

इससे पहले Google ने अपने Play Store पर मौजूद एंटी-इंडिया ऐप 2020 Sikh Referendum को रिमूव किय था। इस ऐप को पंजाब सरकार ने हटाने की मांग की थी। इसे लेकर यह आरोप लगाया गया था कि इस पर भारत विरोधी गतिविधियां की जा रही हैं। भारत सरकार ने Sikhs for Justice ग्रुप को पहले से ही प्रतिबंधित किया हुआ है। इस ऐप पर यह आरोप लगाया गया था कि यह पाकिस्तान की इंटेलिजेंस सर्विस इस कैंपेन का हिस्सा है। यहां पढ़ें पूरी खबर

इससे पहले एक रिसर्च सामने आई थी जिसमें कहा गया था कि 47 ऐप्स को Google Play Store से हटा दिया गया है। जिन ऐप्स को हटाया गया था उनके डाउनलोड्स 3 मिलियन हैं। अगर यूजर्स ने इन 47 ऐप्स में किसी भी ऐप को अपने फोन में डाउनलोड किया हुआ है तो जल्द ही इन्हें डिलीट कर दें। इन 47 ऐप्स के बारे में जानने के लिए क्लिक करें यहां

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस