नई दिल्ली, टेक डेस्क। पिछले महीने भारत सरकार द्वारा लॉन्च किए गए कोरोनावायरस ट्रैकिंग ऐप Aarogya Setu को अब JioPhone 4G फीचर फोन यूजर्स के लिए भी रोल आउट कर दिया गया है। इस ऐप को अब 5 मिलियन (50 लाख) JioPhone यूजर्स अपने फोन में इंस्टाल कर सकेंगे। Reuters की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार की टेक्नोलॉजी मंत्रालय ने KaiOS यूजर्स के लिए इस ऐप को रोल आउट किया है। इससे पहले इस ऐप को केवल स्मार्टफोन यूजर्स के लिए लॉन्च किया गया था। जिसे करीब 10.4 करोड़ यूजर्स इस्तेमाल कर रहे हैं। आपको बता दें कि पिछले महीने ही केन्द्र सरकार ने सभी सरकारी और प्राइवेट कर्मचारियों के लिए Aarogya Setu ऐप को अनिवार्य किया है।

Reuters की रिपोर्ट के मुताबिक, Aarogya Setu ऐप को अब 5 मिलियन JioPhone यूजर्स भी इस्तेमाल कर सकेंगे। Aarogya Setu ऐप को सरकार प्रमोट कर रही है। इस ऐप के जरिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में मदद मिलती है। राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन के प्रेसिडेंट और CEO अभिषेक सिंह ने PTI को बताया, 'सरकार का प्रयास यह सुनिश्चित करना है कि हर कोई सुरक्षित हो और जिसके पास कोई ऐसा फोन हो जिस पर एप्लिकेशन इंस्टॉल किया जा सके, उसे इसे इंस्टॉल करना चाहिए।'

जैसा कि आप जानते हैं कि Aarogya Setu ऐप फोन के GPS और ब्लूटूथ का इस्तेमाल करके कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में मदद करता है। जैसे ही आप किसी COVID-19 संक्रमित व्यक्ति के आस-पास होते हैं, ये आपको अलर्ट करता है। इस ऐप को 2 अप्रैल को लॉन्च किया गया था, ताकि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा सके। हालांकि, पिछले दिनों इस ऐप से जुड़ी प्राइवेसी समस्या वाली रिपोर्ट सामने आई थी, जिसे बाद में Aarogya Setu की टीम ने खारिज किया था।

Aarogya Setu की टीम ने बताया, 'इसके जरिए यूजर की किसी भी तरह की निजी जानकारी को हैकर से खतरा नहीं है। हम लगातार इस ऐप को टेस्ट कर रहे हैं और सिस्टम को अपग्रेड कर रहे हैं। Aarogya Setu की टीम सबको आश्वस्त करती है कि इससे किसी भी तरह के डाटा या सिक्युरिटी ब्रीच का खतरा नहीं है।' आपको बता दें कि पिछले दिनों फ्रेंच सिक्युरिटी रिसर्चर रॉबर्ट बेपटिस्टे ने Aarogya Setu ऐप के द्वारा सिक्युरिटी ब्रीच होने की आशंका जाहिर की थी।

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस