नई दिल्ली, टेक डेस्क। Google की तरफ से 7 खतरनाक ऐप्स को Play Store से हटा दिया गया है। Kasperskey की एक मैलवेयर एनालिस्ट ततयाना शिशकोवा (Tatyana Shishkova) ने इन सभी 7 ऐप्स में मालवेयर की पहचान की गयी थी। उन्होंने बताया कि यह खतरनाक ऐप्स मैलवेयर जैसे 'ट्रोजन' (Trojan) जोकर से संक्रमित है। हाल ही में Squid Game यूजर्स ने इसी तरह के मैलवेयर हमलों का का सामना करना पड़ा है।

फोन से तुरंत डिलीट कर दें ये खतरनाक ऐप्स 

Google की तरफ से पहले ही इन ऐप्स को Google Play Store से हटा दिया गया है। ऐसे में अगर आपके स्मार्टफोन में ये 7 खतरनाक ऐप्स मौजूद हैं, तो उन्हें तुरंत हटा दें। वरना आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। दरअसल इन खतरनाक ऐप्स को अब तक करीब करोड़ों की संख्या में डाउनलोड किया गया है। ऐसे में सभी यूजर्स को चेक कर लेना चाहिए कि कहीं उनके फोन में इस तरह के खरतनाक ऐप्स मौजूद तो नहीं हैं। अगर ऐसा है, तो उन्हें तुरंत फोन से हटा देना दें।

ये हैं वो 7 खतरनाक ऐप्स

  • Now QRcode Scan - 10,000 से ज्यादा इंस्टॉल
  • EmojiOne Keyboard - 50,000 से ज्यादा इंस्टॉल
  • Battery Charging Animations Battery Wallpaper - 1,000 से ज्यादा इंस्टॉल
  • Dazzling Keyboard - 10 इंस्टॉल
  • Volume Booster Louder Sound Equalizer - 100 इंस्टॉल
  • Super Hero-Effect - 5,000 इंस्टॉल
  • Classic Emoji Keyboard - 5,000 इंस्टॉल

ऑनलाइन सर्विस का संभल कर करें इस्तेमाल 

Google की तरफ से बैन किये गये 7 खतरनाक ऐप्स की सबसे कॉमन बात है कि ये मैलवेयर अटैक के जरिए अवैध धोखाधड़ी जैसे फेक सब्सक्रिप्शन और इन-ऐप परचेज ऑफर करते हैं। ऐसे में यूजर्स को इन लिंक्स और गैरजरुरी खरीददारी को नजरअंदाज करना चाहिए। मौजूदा वक्त में जैसा कि लोग तेजी से ऑनलाइन की तरफ शिफ्ट कर रहे हैं। ऐसे में ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाएं भी बढ़ी हैं। ऐसे में यूजर्स को सतर्क रहने की जरूरत है।

Edited By: Saurabh Verma