नई दिल्ली, टेक डेस्क| ऑनलाइन स्कैमिंग और हैकिंग की घटनाएं इन दिनों तेजी से बढ़ रही हैं। साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऑनलाइन स्कैम के बढ़ने की वजह कोरोना महामारी है। विशेषज्ञों का सुझाव है कि महामारी ने दुनिया भर में लोगों को इंटरनेट पर ज्यादा टाइम बिताने के लिए प्रेरित किया। महामारी के बाद से, लोग अपने दिनभर में होने वाले काम के लिए पहले से कहीं ज्यादा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर निर्भर हो गए हैं। हैकर्स और स्कैमर्स अपने फायदे के लिए इसका इस्तेमाल कर रहे हैं और ऑनलाइन हैकिंग के लिए तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं। लेटेस्ट इंसीडेंट से पता चलता है कि स्कैमर्स यूजर्स का डेटा और पैसा चुराने के लिए PhoneSpy स्पाइवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं

मोबाइल सुरक्षा कंपनी Zimperium के अनुसार, स्कैमर्स PhoneSpy नाम के एक स्पाइवेयर कैंपेन चला रहे हैं, जिसमें हेल्पफुल टूल के रूप में दिखाई देने वाले स्पाइवेयर ऐप्स का एक ग्रूप शामिल है। उदाहरण के लिए, इस मामले में, PhoneSpy स्पाइवेयर ऐप्स फिल्मों को स्ट्रीम करने और यूजर्स को Yoga सीखने में मदद करने का दावा करते हैं। हालांकि, वास्तव में ऐसा नहीं है। अगर आपके फोन में भी ये ऐप्स मौजूद हैं या आप इनका इस्तेमाल करते हैं तो इन्हें तुरंत फोन से डिलीट कर दें

PhoneSpy क्या है?

रिपोर्ट के अनुसार, PhoneSpy स्पाइवेयर मुख्य रूप से सब्सक्राइबर से अन्य चीजों के अलावा जानकारी, फोटो, वीडियो को चुराने की योजना बनाते है। स्पाइवेयर खासतौर पर Android यूजर्स को टारगेट करता है और आज तक किसी भी iOS यूजर्स को प्रभावित नहीं किया है। इसलिए, अगर आप Android फ़ोन का इस्तेमाल करते हैं और ऐसे खतरनाक ऐप्स इंस्टॉल हैं, तो उन्हें अभी हटा दें।

रिपोर्ट के अनुसार, PhoneSpy स्पाइवेयर जानकारी चुरा सकता है जैसे - लॉगिन क्रेडेंशियल, sms, कॉल लॉग, फोम कॉन्टैक्ट और इमेज। इसके अलावा, ऐसे स्पाइवेयर GPS लोकेशन की निगरानी कर सकते हैं, रीयल-टाइम में ऑडियो और वीडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं, डिवाइस की जानकारी जैसे IMEI, ब्रांड, डिवाइस का नाम, Android वर्जन, और बहुत कुछ निकाल सकते हैं।

जबकि ऐसे स्पाइवेयर ऐप्स आपके लिए खतरनाक हो सकते हैं, Zimperium  रिपोर्ट से पता चलता है कि PhoneSpy अभियान में केवल 23 Android ऐप्स हैं। रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि पहचाने गए PhoneSpy ऐप मुख्य रूप से दक्षिण कोरियाई नागरिकों को टारगेट कर रहे हैं। इसलिए, अगर आप दक्षिण कोरिया से बाहर हैं, तो आप अभी के लिए सुरक्षित हैं। Zimperium की रिपोर्ट बताती है कि हजारों दक्षिण कोरियाई यूजर्स ने अपने मोबाइल पर PhoneSpy स्पाइवेयर डाउनलोड किया है।

Edited By: Mohini Kedia