लंदन। लगातार बारिश की खलल के कारण इंग्लैंड के खिलाफ चौथे वनडे मैच के टाई होने से निराश भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कहा कि इस मुकाबले में उन्होंने क्रिकेट का बुरा रूप देखा। रविवार को खेले गए टाई मैच के साथ इंग्लैंड पांच मैचाें की में 2-0 की अजेय बढ़त बनाकर जीत गया, क्योंकि पहला मैच बारिश के कारण धुल गया था जबकि इसके बाद के दोनों मैच मेजबान टीम ने जीत लिए थे।

भारत ने इंग्लैंड के लिए रविवार को बारिश की बाधा से पहले 281 रन का लक्ष्य रखा जिसमें बारिश की बाधा के कारण डकवर्थ लुईस पद्वति से उतार-चढ़ाव पैदा करने वाले मैच को टाई पर समाप्त करना पड़ा। धौनी ने मैच के बाद कहा, 'हमने इस मैच में क्रिकेट का बुरा रूप देखा। जिस भी टीम का पलड़ा भारी था, वह खेलना नहीं चाहती थी। जो टीम जीत नहीं रही होती, वह बने रहना चाहती है। यही लोग करते हैं और ऐसा ही दोनों टीमों ने किया।' इस मैच में तीन बार बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा। पहली बार इंग्लैंड की टीम आगे थी जबकि दूसरी बार भारतीय टीम का डकवर्थ पद्धति के कारण पलड़ा भारी था। धौनी ने कहा, 'अगर एक दिन का मैच होता है तो अलग तरह के दिशानिर्देश और नियम होते हैं, जिसका आपको पालन करना होता है।' उन्होंने कहा कि कुछ भारतीय खिलाड़ी परिणाम को लेकर उलझन में थे। साफ-साफ समझ नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है। उन्होंने कहा, 'कुछ खिलाड़ी उलझन में थे। कुछ ने सोचा कि हम जीत गए। हममें से ज्यादातर को लगा कि यह बूंदाबांदी हैं और हम थोड़ी देर में मैदान में पहुंच जाएंगे।'

धौनी ने बताया, 'एक बार ड्रेसिंग रूम में पहुंचने के बाद हमने कागज पर फाइनल शीट देखी। इस शीट को देखने के बाद हमें पक्का हुआ कि मैच टाई हो गया।' बारिश के खलल पर निराशा व्यक्त करते हुए धौनी ने कहा, 'ऐसा पहली बार नहीं है। हम पहला मैच भी जीतने के करीब थे लेकिन जैसा कि मैंने कहा कि आप मौसम पर नियत्रंण नहीं कर सकते।' धौनी [78] की बल्लेबाजी भी काफी अच्छी रही और सुरेश रैना भी 84 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। उन्होंने कहा, 'हमने अच्छी शुरुआत की। सलामी बल्लेबाजों ने अच्छा किया। जब मैं बल्लेबाजी करने आया तो हम सुनिश्चित करना चाहते थे कि हम काफी ओवर खेलें।' धौनी ने कहा, 'हमने दिमाग में लक्ष्य नहीं बनाया हुआ था। हम स्ट्राइक रोटेट करना चाहते थे और इसकी कोशिश कर रहे थे। जोखिम भरे शाट नहीं खेलना चाहते थे। 40 ओवर के बाद अंतिम 10 ओवर में हम करीब 110 रन जुटाने में सफल रहे जिससे काफी अंतर पड़ा।' इंग्लैंड की टीम अगले महीने भारत का दौरा करेगी और कुछ युवा खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के बाद भी ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि सीनियर खिलाड़ी अपना स्थान बरकरार रखेंगे। धौनी ने कहा, 'कुछ खिलाड़ी तब तक फिट हो जाएंगे। भारत में मैदान छोटे हैं और बल्लेबाजों के पास एक या दो रन लेने का मौका होगा।'

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप