नई दिल्ली, अध्यात्म डेस्क | Vastu Tips for Home: वास्तु शास्त्र में घर से सम्बन्ध्ति कई उपाय बताए गए हैं, जिनका पालन करने से व्यक्ति को वास्तु दोष से मुक्ति मिलती है। लेकिन इनके साथ इसमें कुछ कार्यों का भी उल्लेख किया गया है, जिन्हें करने से व्यक्ति के जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और वास्तु दोष (Vastu Dosh Upay) का भय बढ़ जाता है। बता दें कि वास्तु दोष के कारण आर्थिक, शारीरिक अथवा मानसिक तौर पर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। साथ ही परिवार में भी कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं, जिनके कारण व्यक्ति को तनाव मिलता है। ऐसे में व्यक्ति को कुछ ऐसी गलतियों से बचना चाहिए जिनसे घर में नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव का भय बढ़ जाता है। आइए जानते हैं किन कार्यों से घर में बढ़ती है नकारात्मकता।

वास्तु शास्त्र के अनुसार न करें ये गलतियां (Vastu Tips for Home)

  • शास्त्रों में बताया गया है कि घर, कार्यस्थल या दुकान में लम्बे समय तक अंधकार नहीं रहना चाहिए। ऐसा होने पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव तेजी से बढ़ता है और वास्तु दोष का भी खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इन जगहों पर कुछ न कुछ हमेशा रौशनी के लिए कम बिजली वाला बल्ब या धूप-बत्ती जलाए रखें।

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार बिना पूजा-पाठ के घर में नहीं रहना चाहिए। साथ ही घर में रोजाना मंत्रों का उच्चारण भी होना चाहिए। इस नियम का पालन नहीं करने पर नकारात्मक उर्जा का प्रभाव बढ़ सकता है और व्यक्ति को वास्तु दोष का सामना करना पड़ सकता है।

  • वास्तु शास्त्र में यह भी बताया गया है कि व्यक्ति को रात के समय सुगन्धित चीजों का प्रयोग कम से कम करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे नकारात्मक शक्तियां तेजी से आकर्षित होती हैं और वास्तु दोष का खतरा बढ़ सकता है।

  • घर में आते ही व्यक्ति यदि तनाव से ग्रसित, उर्जाहीन या भ्रमित महसूस करता है, तो यह वास्तु दोष का संकेत हो सकता है। इसलिए रोज सुबह और संध्या काल में घंटी व शंख जरूर बजाएं। ऐसा करने से आपको जल्द ही सकारात्मक बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

  • वास्तु शास्त्र में यह भी बताया गया है कि शुद्धता के कारण वास्तु दोष का खतरा टल जाता है। इसलिए स्वयं के साथ-साथ घर को भी हर समय साफ-सुथरा रखें। अन्यथा नकारात्मक शक्तियां व्यक्ति या उसके परिवार पर हावी हो सकती हैं।

  • घर में यदि हर समय तनाव की स्थिति बनी रहती है और परिवार का कोई न कोई सदस्य समय-समय पर बीमार पड़ता है, तो यह वास्तु दोष के कारण हो सकता है। इसलिए घर में धार्मिक कार्यों को श्रद्धापूर्वक सम्पन्न करें और हर समय सतर्क रहें।

डिसक्लेमर- इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shantanoo Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट