नई दिल्ली, Vastu Tips: नया साल आते हर घर में नए कैलेंडर आ जाते हैं। वास्तु के अनुसार नए कैलेंडर घर लाना प्रगति की ओर इशारा करता है। वास्तु में कैलेंडर को लेकर कई नियम बताए हैं जिनका पालन जरूर करना चाहिए क्योंकि इससे भी आपकी तरक्की पर बुरा असर पड़ सकता है। माना जाता है कि घर में नए साल का कैलेंडर आते ही पुराना तुरंत हटा देना चाहिए। कई बार लोग पुराने कैलेंडर को भी संभालकर रख लेते हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसे घर में नेगेटिव एनर्जी आने लगती है। जानिए वास्तु के अनुसार किस दिशा में लगाएं कैलेंडर और किस दिशा में न लगाएं कैलेंडर।

इस दिशा में न लगाएं कैलेंडर

  • वास्तु के अनुसार, घड़ी की तरह की कैलेंडर भी समय का सूचक माना जाता है। इसलिए दक्षिण दिशा में बिल्कुल भी कैलेंडर नहीं लगाना चाहिए। इससे व्यक्ति की तरक्की रुक सकती है। इसके साथ ही घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
  • वास्तु के मुताबिक, घर के मुख्य दरवाजे के सामने भी कैलेंडर नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि इससे घर में आने वाली ऊर्जा पर बुरा असर पड़ता है।
  • वास्तु के मुताबिक, कभी भी ऐसी जगह का कैलेंडर नहीं लगाना चाहिए जहां पर तेज हवा आती है। क्योंकि तेज हवा से कैलेंडर हिलने-डूलने लगता है जोकि अच्छा नहीं माना जाता है।

इस दिशा में कैलेंडर लगाना शुभ

पूर्व दिशा

वास्तु के अनुसार, पूर्व दिशा में कैलेंडर लगाना शुभ माना जाता है। ऐसा करने से जीवन में तरक्की, सुख-समृद्धि मिलती है। इसलिए इस दिशा में भगवान, लाल या गुलाबी कागज में उगते हुए सूई वाला कैलेंडर लगाएं।

पश्चिम दिशा

वास्तु के मुताबिक, पश्चिम दिशा में भी कैलेंडर लगाना शुभ माना जाता है क्योंकि इस दिशा को बहाव की दिशा मानी जाती है। इस दिशा में कैलेंडर लगाने से जीवन में हर काम में तरक्की मिलेगी। इसके साथ ही आपके कार्य क्षमता भी अच्छी रहेगी।

उत्तर दिशा

उत्तर दिशा में भी कैलेंडर लगाना शुभ माना जाता है। वास्तु के अनुसार, इस दिशा के स्वामी कुबेर भगवान होते हैं। इसलिए इस दिशा में खुशी देने वाला कैलेंडर लगाना चाहिए। ऐसे में आप विवाह, झरना, नदी, समुद्र, हरियाली आदि वाले कैलेंडर लगा सकते हैं।

Pic Credit- Freepik

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।' 

Edited By: Shivani Singh