हर कोई अपने जीवन में सफलता की चाह करता है, शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे असफलता का दर्द बरदाश्त करना अच्छा लगता हो। लेकिन सच ये भी है कि जहां 90 प्रतिशत लोग इसी असफलता का सामना करते हैं वहीं मात्र 10 प्रतिशत लोग ही ऐसे होते हैं जिन्हें वास्तव में सफलता हाथ लगती है।

नौकरी में प्रमोशन

सफलता पाने के लिए व्यक्ति के हार्ड वर्क यानि कड़ी मेहनत और उसकी किस्मत को उत्तरदायी करार दिया गया है, वहीं आप चाहे मानें या ना मानें लेकिन सच यही है कि कुछ ऐसे शकुन और घटनाएं भी हैं जो अगर आपके साथ घटित हो गई तो आपको सफल होने या नौकरी में प्रमोशन मिलने से कोई नहीं रोक सकता।

शकुन

शकुन शास्त्र के अंतर्गत कुछ ऐसी बातों का जिक्र किया है, जिनका होना निकट भविष्य में मिलने वाली सफलता या प्रमोशन की बात कहता है। आइए जानते हैं क्या हैं वो शकुन।

छ‌िपकली की आवाज

अगर द‌िन के समय खास तौर पर भोजन के समय अगर छ‌िपकली की आवाज सुनाई दे तो इसे बड़ा ही शुभ शगुन माना जाता है। ऐसी मान्यता है क‌ि यह आपको न‌िकट भव‌िष्य में धन लाभ और उन्नत‌ि का संकेत देता है।

खुशखबरी

सपने में आपको सांप द‌िखाई देते हैं, खास तौर पर काटते हुए तो डरने की जरूरत नहीं है। यह एक अच्छा शगुन है। यह संकेत है क‌ि आपके घर में कोई खुशखबरी आएगी। आपको धन का लाभ म‌िलेगा या नौकरी में पदोन्नत‌ि म‌िल सकती है।

शुभ शगुन

अगर छ‌िपकली दाएं अंग पर ग‌िरे और बायीं ओर से उतरे तो यह आपके ल‌िए शुभ शगुन माना जाएगा।

उल्लू के बोलने की आवाज

रात के समय उल्लू के बोलने की आवाज सुनाई दे तो यह लाभ और उन्नत‌ि के ल‌िए अच्छा शगुन माना जाता है। कोई मनोकामना पूरी होने का भी इसे शगुन कहा गया है।

कौआ

द‌िन के समय दोपहर में अगर कौआ आपके घर की छत पर आकर बोले तो यह मेहमान नहीं बल्क‌ि पदोन्नत‌ि म‌िलने का सूचक होता है। सुबह-सुबह कौआ का बोलना मेहमान के आगमन का संकेत कहा गया है।

नाक

अगर आपकी नाक फड़कने लगी है तो यह संकेत है क‌ि आपकी मान-प्रत‌िष्ठा और आय में वृद्ध‌ि होने वाली है।

कबूतर

द‌िन के समय पहले प्रहर में कबूतर घर की छत आकर गूटर गूं करें तो इसे शुभ नौकरी के ल‌िए शुभ शगुन माना गया है।

कंधा

अगर आपका दायां कंधा या बाजू कई द‌िनों से फड़कने लगा है तो शगुन शास्त्र के अनुसार आपका प्रभाव बढ़ने वाला है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप