Aaj Ka Panchang:हिंदी पंचांग के अनुसार आज मार्गशीर्ष माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि है। आज 26 नवंबर, शुक्रवार का दिन है। शुक्रवार का दिन शुक्र ग्रह और मां लक्ष्मी की पूजा को समर्पित है। इस दिन संतोषी माता का भी व्रत रखने का विधान है। शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी को सफेद या गुलाबी रंग के फूल और वस्त्र चढ़ाने चाहिए। ऐसा करने से मां लक्ष्मी जरूर प्रसन्न होती हैं और धन-धान्य का आशीर्वाद देती हैं। आज प्रातः काल में इंद्र योग लग रहा है, जो की अगले दिन सुबह तक रहेगा। आज के पंचांग में शुभ मुहूर्त, राहुकाल, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिनः शुक्रवार मार्गशीर्ष मास कृष्ण पक्ष सप्तमी तिथि।

आज का राहुकाल: प्रात: 10:30 बजे से 12:00 बजे तक।

आज का दिशाशूल: पश्चिम।

आज की भद्रा: प्रात: 04:43 बजे से शाम 05:18 बजे तक।

विक्रम संवत 2078 शके 1943 दक्षिणायन, दक्षिणगोल, हेमंत ऋतु मार्गशीर्ष मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी 30 घंटे 01 मिनट तक, तत्पश्चात् नवमी मघा नक्षत्र 21 घंटे 43 मिनट तक, तत्पश्चात् पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र ऐन्द्र योग 07 घंटे 36 मिनट तक, तत्पश्चात् वैधृति योग सिंह में चंद्रमा।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 52 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 36 मिनट पर होगा।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

चंद्रोदय आज रात 11 बजकर 16 मिनट पर होना है। चंद्र के अस्त का समय अगले दिन दोपहर पूर्व 12 बजकर 21 मिनट पर है।

आज का शुभ समय

ब्रह्म योग: आज सुबह 08 बजकर 03 मिनट पर समाप्त हो जाएगा, इसके बाद इन्द्र योग शुरू होगा जो कि अगले दिन 27 नवंबर को प्रात: 07 बजकर 36 मिनट तक।

रवि योग: आज प्रातः 06 बजकर 52 मिनट से अगले दिन शाम को 08 बजकर 37 मिनट तक।

अभिजित मुहूर्त: आज दिन में 11 बजकर 52 मिनट से दोपहर 12 बजकर 35 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 54 मिनट से दोपहर 02 बजकर 36 मिनट तक।

अमृत काल: आज शाम को 06 बजकर 53 मिनट से दोपहर 08 बजकर 36 मिनट तक।

आज मार्गशीर्ष माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि है। अगले दिन अष्टमी तिथि लग रही है। इस दिन काल भैरव की जंयती मानाई जाएगी है। सप्तमी तिथि शुक्रवार को पड़ने के कारण इस दिन मां लक्ष्मी और संतोषी मां का व्रत रखने का विधान है। इस दिन कोई भी शुभ या नया कार्य शुरू करने से पहले राहुकाल, दिशा शूल और शुभ मुहूर्त जरूर देख लें।

Edited By: Jeetesh Kumar