Aaj Ka Panchang: हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि है। आज 24 जुलाई 2021 और दिन शनिवार है। आज गुरु पूर्णिमा है, जिसे व्यास पूर्णिमा या आषाढ़ी पूर्णिमा भी कहा जाता है। गुरु पूर्णिमा के दिन गुरु की पूजा की जाती है। इस दिन भगवान विष्णु और देवों के गुरु बृहस्पति की भी आराधना कर सकते हैं। आज दोपहर से सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है, जो पूरे रात तक रहेगा। आज शनिवार के दिन आपको हनुमान जी और शनि देव की पूजा करनी चाहिए। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: शनिवार, आषाढ़ मास, शुक्ल पक्ष, पूर्णिमा तिथि।

आज का दिशाशूल: पूर्व।

आज का राहुकाल: प्रात: 09:00 बजे से 10:30 बजे तक।

आज का पर्व एवं त्योहार: गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा, आषाढ़ी पूर्णिमा।

विक्रम संवत 2078 शके 1943 दक्षिणायन, उत्तरगोल, वर्षा ऋतु आषाढ़ मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा 08 घंटे 07 मिनट तक, तत्पश्चात् श्रावण मास कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा उत्तराआषाढ़ा नक्षत्र 12 घंटे 40 मिनट तक, तत्पश्चात् श्रवण नक्षत्र विषकुंभ योग 06 घंटे 11 मिनट तक, तत्पश्चात् प्रीति योग मकर में चंद्रमा।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 05 बजकर 38 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 07 बजकर 17 मिनट पर होगा।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज का चंद्रोदय शाम को 07 बजकर 51 मिनट पर होगा। चंद्र के अस्त का समय आज प्राप्त नहीं है।

आज का शुभ समय

अभिजित मुहूर्त: आज दोपहर 12 बजे से दोपहर 12 बजकर 55 मिनट तक।

सर्वार्थ सिद्धि योग: आज दोपहर 12 बजकर 40 मिनट से अगले दिन 25 जुलाई को प्रात: 05 बजकर 39 मिनट तक।

अमृत काल: आज सुबह 06 बजकर 44 मिनट से सुबह 08 बजकर 13 मिनट तक। फिर देर रात 01 बजकर 30 मिनट से 25 जुलाई को तड़के 03 बजे तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 02 बजकर 44 मिनट से दोपहर 03 बजकर 39 मिनट तक।

आज आषाढ़ पूर्णिमा है। आज शनिवार के दिन हनुमान चालीसा, बजरंगबाण, सुंदरकांड, शनि चालीसा आदि का पाठ करना चाहिए। आज के दिन शनि देव और हनुमान जी के मंत्रों का जाप करना चाहिए। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

Edited By: Kartikey Tiwari