Panchang 15 November 2020: हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि है। आज 15 नवंबर दिन रविवार है। आज अमावस्या ति​​थि सुबह 10:37 बजे तक है। उसके बाद शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि का प्रारंभ हो जाएगा। ऐसे में गोवर्धन पूजा या अन्नकूट आज है। आज के दिन ही बलि पूजा भी होती है। गोवर्धन पूजा के दिन गोवंश त​था गोवर्धन की पूजा की जाती है। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: रविवार, कार्तिक मास, कृष्ण पक्ष, अमावस्या तिथि।

आज का दिशाशूल: पश्चिम।

आज का राहुकाल: शाम 04:30 बजे से 06:00 बजे तक।

आज का दिशाशूल: पश्चिम।

आज का पर्व एवं त्योहार: अन्नकूट, गोवर्धन पूजा, बलि पूजा एवं स्नानदान की अमावस्या।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद ऋतु कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की अमावस्या 10 घंटे 37 मिनट तक, तत्पश्चात् प्रतिपदा विशाखा नक्षत्र 17 घंटे 16 मिनट तक, तत्पश्चात् अनुराधा नक्षत्र शोभन योग 23 घंटे 06 मिनट तक, तत्पश्चात् अतिगण्ड योग तुला में चंद्रमा 11 घंटे 58 मिनट तक तत्पश्चात् वृश्चिक में।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 44 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 27 मिनट पर होगा।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज के दिन चंद्रोदय का समय प्राप्त नहीं है। चंद्र का अस्त आज शाम 05 बजकर 45 मिनट पर होगा।

आज का शुभ समय 

अभिजित मुहूर्त: दिन में 11 बजकर 44 मिनट से दोपहर 12 बजकर 27 मिनट तक।

अमृत काल: आज सुबह 09 बजकर 32 मिनट से सुबह 10 बजकर 56 मिनट तक। उसके बाद 16 नवंबर को प्रात:काल 05 बजकर 22 मिनट से सुबह 06 बजकर 47 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 53 मिनट से दोपहर 02 बजकर 36 मिनट तक।

आज कार्तिक अमावस्या है। आज के दिन स्नान दान का महत्व होता है। आज के दिन पिंडदान भी किया जाता है। रविवार का दिन है तो सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप