मंगल का प्रभाव 

सायन सूर्य के आधार पर मेष राशि में उत्पन्न होने वालों पर मंगल का प्रभाव रहता है। इसी कारण ये दुबले पतले होते हैं, चौड़े कन्धे और पीले नेत्र होते हैं। इन लोगों को अधिक श्रम से बचना चाहिए क्‍योंकि ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित होता है। इनको किसी भी रोग के होने के पूर्व सिर दर्द या दूसरी सिर से जुड़ी परेशानियां पहले होने लगती हैं। इन्‍हें रक्‍त विकार और हमेशा बदहजमी की शिकायत रहती है। इन लोगों को मस्तिष्क को शक्ति देने वाले पदार्थें का सेवन करना चाहिए। 

 

शुभ चिन्‍ह और अंक

ऐसे लोगों के लिए सफेद और लाल रंग होता है।ऐसे लोगों के लिए मूंगा पहनना भी अच्‍छा रहता है। इनके लिए मंगलवार का दिन शुभ और शुक्रवार का दिन परेशानी देने वाला हो सकता है। इन लोगों के लिए 1-2-3-7-9 शुभ अंक हैं। 2-3-12-18वें वर्ष में जल से, 7-16-17वें वर्ष कुछ रोगों से और  50वें वर्ष चोर से हानि हो सकती है। इनकी आयु लंबी होती है लगभग 75 वर्ष के आसपास। 

सच की खातिर छूटते हैं मित्र 

ऐसे लोगों की मित्रता केवल अपने ही विचार वाले लोगों से होती है, क्योंकि ये सत्य और नियम प्रिय होते हैं, इसी कारण, अपने मित्र को, सत्यता का साथ न देने के चलते छोड़ सकते हैं। इसके बावजूद इनके शत्रुओं की तुलना में मित्रों की संख्या अधिक ही रहती है। बेहतर होगा ये  23 अक्टूबर से 22 नवम्बर तक, या 22 दिसम्बर से 19 जनवरी तक, या 19 फरवरी से 20 मार्च तक के मध्य में जन्में लोगों के साथ मित्रता न करें ये विरोधी साबित हो सकते हैं। परंतु 22 जुलाई से 23 अगस्त तक और 22 नवम्बर से 21 दिसम्बर तक के मध्य में जन्म लेने वालों के साथ अवश्य ही मित्रता कीजिए। कृषि या शिल्प कला के क्षेत्र इनके लिए लाभप्रद हो सकते हैं। 18-24-32 वें वर्ष विवाह के लिए शुभ हैं। उलझनों से बचें और काम को शांत मन से करने का प्रयास करें वरना आपका चचंल मन समस्‍या पैदा कर सकता है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021