सामान्य फल- वाकपटु और बर्हिमुखी होने के कारण आप लोगों का साथ पसंद करते हैं और एक साथ बहुत से काम करने का प्रयास करते हैं। मूलतः आपकी राशि द्विस्वभाव राशि है और इसलिए आपको समझाना आसान नहीं होता, क्योंकि आपके मूड तेजी से बदलते रहते हैं। चूंकि आपका मस्तिष्क हमेशा सक्रिय रहता है, इसलिए आपके दिल दिमाग में नए विचार हमेशा आते रहते हैं। जहां नए विचारों की जरूरत हो, वहां आप पर भरोसा किया जा सकता है कि आप नए विचार प्रदान करेंगे। क्या किया जाना चाहिए, इस बारे में भी आपकी सोच स्पष्ट रहती है। 

आपकी कार्यशैली- आप में चंचलता की प्रवृत्ति होती है और बिना किसी चेतावनी के अक्सर अपना फैसला बदल लेते हैं, जिस कारण चीजें अधूरी छूट जाती हैं और दूसरे लोग मझधार में रह जाते हैं। कई बार आप अनिर्णय की स्थिति में डावांडोल रहते हैं और इस बात पर विचार नहीं करते कि दूसरे लोग आपके निर्णय के इंतजार कर रहे हैं। 

प्रेम और रोमांस- राशिचक्र की सबसे फ्लर्ट करने वाली राशि होने के कारण आप एक के बाद दूसरा फिर तीसरा रोमांस करते जाते हैं। शादी के बाद भी किसी नए पार्टनर के साथ रोमांस शुरू करने की भूख पर आपका काबू नहीं होता है। आपके लिए रोमांस की गति तेज होनी चाहिए और आपके पार्टनर को आपके जितना ही उत्साही और जोशीला होना चाहिए।

बिजनेस और आर्थिक स्थिति- आप अच्छे लेखक रेडियो या टेलीविजन प्रोड्यूसर या एंकर लेक्चरर लिंग्विस्ट टीचर ट्रेवल सेल्समैन बन सकते हैं। आप पैसे मिलने वाले लाभों से प्रेम करते हैं, वैसे इनसे कौन प्रेम नहीं करता। आप पैसे के संग्रह को चुनौती के रूप में लेते हैं और इस वजह से आप अक्सर सट्टेबाजी के चंगुल में फंस जाते हैं। क्योंकि आपमें बेचते या खरीदते समय प्रयोगशील होने की अद्भुत प्रतिभा होती है। यदि आप नौकरी में हैं तो आप आवेश ओर आवेग पर नियंत्रण कर लें और काम करने से पहले उसका पूरी तरह से मूल्यांकन कर लें तो आप तेजी से अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं।

स्वास्थ्य- आपकी राशि का स्वामित्व इन अंगो पर है, कंधे, बाहें, हाथ, उंगलियां ओर ऊपर पसलियां। आपकी राशि में यह बीमारियां आमतौर पर हो सकती हैं ।

आश्चर्यजनक बात- स्पेस और खुलेपन का आपके लिए बहुत महत्व है और आमतौर पर आप घरेलू वातावरण में छोटी चीजों के बजाय बड़ी चीजों को पसंद करते हैं।

चेतावनी- आप अपने घर और परिवार से प्रेम करते हैं और उनके लिए अच्छे से अच्छा करना चाहते हैं। आपके लिए इस विरोधाभास को हल करना जरूरी है, क्योंकि एक तरफ तो आप स्वतंत्र रहना चाहते हैं और दूसरी तरफ एक अच्छा परिवारिक जीवन गुजारना चाहते हैं। 

शुभ दिन- सोमवार गुरूवार

शुभ रंग- पीला और नारंगी

Posted By: Molly Seth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप