सामान्य फल- कारोबारी क्षेत्र में कुछ उलझावपूर्ण स्थिति का सामना करना पड़ेगा, खासकर साझेदारी में व्यापार कर रहे व्यक्तियों को होशियार रहना चाहिए। सतत् परिश्रम से आपको सफलता मिलेगी, जो आपके लम्बे ओर कठोर श्रम का परिणाम होगी। आप खर्च करने के मामले में प्रैक्टिकल और मितव्ययी हो जाएंगे। पारिवारिक सहयोग से मानसिक प्रसन्नता रहेगी। दाम्पत्य जीवन में खुशहाली रहेगी। आपमें से ज्यादातर लोग बहुत सी गतिविधियों और पूर्ण शांति के विरोधाभासी तालमेल को पसंद करते हैं।

आपकी कार्यशैली- आपमें काफी हद तक कला की प्रतिभा होती है और आप स्टेज व थिएटर से जुडे़ कार्यों में भी रूचि ले सकते हैं। आपके प्रैक्टिकल स्वभाव से कई बार लोग यह समझ बैठते हैं कि आपमें भावनाएं कम हैं। तर्क वितर्क करने में आप तेज और स्फूर्तिवान होते हैं, कई बार तो सामने वाला अपनी बात कह भी नहीं पाता और आप अपनी बात कहने लगते हैं।

प्रेम और रोमांस- आप वफादार होते हैं। आप जिससे प्रेम करते हैं उसके प्रति समर्पित रहते हैं। अपने जीवनसाथी को चुनने के मामले में आप भावुकता की अपेक्षा सांसारिकता को महत्व देते हैं, यहां तक कि सगाई के बाद भी अगर आपको लगे कि आपका भावी जीवनसाथी आपकी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरेगा, तो आप रिश्ता तोड़ सकते हैं। 

बिजनेस और आर्थिक स्थिति- जीवन के शुरूआती समय में हो सकता है कि आप धनवान न हों। सम्भव है कि आपके पूर्वजों के गलत आर्थिक निर्णयों की वजह से आपको आर्थिक तंगी के दौर से गुजरना पड़े, लेकिन अब आप बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं और बिजनेस में चतुर हैं। आप अपने दम पर पैसा कमाएंगे और आपको सफलता 35 वर्ष की अवस्था के बाद ही मिलेगी। पैंतीस वर्ष की उम्र तक आर्थिक क्षेत्र में आपको बहुत से उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा, परन्तु सफलता आपको अवश्य मिलेगी। यदि आप नौकरी में हैं तो ध्यान रहे आगे आपको सम्मान समृद्धि और उच्च पद का प्रतिनिधित्व करना है। संबंधों के मामले में सतर्कता लाभप्रद है।

स्वास्थ्य- आमाशय आपके शरीर का कमजोर हिस्सा है और आपको ज्यादा विशेष ध्यान रखना होगा। आप नर्वस रोगों का शिकार हो सकते हैं।

आश्चर्यजनक बात- आपका सिक्स्थ सेन्स जागृत होता है और यदि आप दूसरों की सलाह के बजाए अपनी बुद्धि के अनुसार काम करेंगे तो अधिक सफल होंगे। 

चेतावनी- किसी की बात सुने जरूर मगर निर्णय सोच समझ कर ही लें तो बेहतर रहेगा। आपको शर्त लगाने सट्टेबाजी और जुए से दूर रहना चाहिए।

शुभ दिन- रविवार आैर शुक्रवार

शुभ रंग- नारंगी, सफेद आैर क्रीम। 

पंडित विजय त्रिपाठी विजय​ website- www.astroworldindia.com, email- pt.vijaytripathi@gmail.com

By Molly Seth