नई दिल्ली, June 2022 Hindu Calendar: आज से जून माह की शुरुआत चुकी है। हिंदू धर्म में जून का मास महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस माह में गंगा दशहरा, निर्जला एकादशी, रंभा तृतीया, दर्श अमावस्या सहित कई बड़े व्रत त्योहार पड़ रहे हैं। इसके साथ ही ज्येष्ठ माह में पड़ने वाले मंगलवार को बुढ़वा मंगल या बड़ा मंगल के नाम से जाना जाता है जोकि इसी माह की शुरुआत में पड़ रहे हैं। जून का माह काफी खास माना जा रहा है क्योंकि इस महीने में भगवान विष्णु की सबसे प्रिय एकादशी निर्जला एकादशी पड़ रही है। जानिए हिंदू कैलेंडर के अनुसार, जून 2022 में पड़ने वाले सभी व्रत त्योहारों के बारे में।

जून 2022 के व्रत त्योहार

02 जून, गुरुवार- रंभा तृतीया

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को ये व्रत रखा जाता है। इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और संतान के अच्छे भविष्य के लिए व्रत करती है।

Rambha Teej 2022: मनवांछित वर के लिए कुंवारी कन्याएं रखें रंभा तीज का व्रत, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और मंत्र

09 जून, गुरुवार- गंगा दशहरा

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा होता है। मान्यता है कि इस दिन मां गंगा धरती में अवतरित हुई थी और मनुष्यों का उद्धार किया था।

11 जून, शनिवार- निर्जला एकादशी, गायत्री जयंती

भगवान विष्णु की सबसे प्रिय एकादशी में से एक निर्जला एकादशी है। इस दिन विधि विधान से भगवान विष्णु की पूजा की जाती है।

Nirjala Ekadashi 2022: निर्जला एकादशी कब? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

12 जून, रविवार- प्रदोष व्रत

ज्येष्ठ मास के त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान शिव की विधि-विधान की जाती है।

14 जून, मंगलवार- संत कबीर जयंती, वट सावित्री व्रत

हर साल ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को संत कबीर की जयंती मनाई जाती है। इस दिन वट सावित्री व्रत भी रखा जाता है। हालांकि कुछ जगहों पर अमावस्या के दिन भी ये व्रत रखा जाता है। इस दिन सुहागिन महिलाएं बरगद के पेड़ की पूजा करती है।

17 जून, शुक्रवार- संकष्टी चतुर्थी व्रत

हर माह की शुक्ल और कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी गणेश चतुर्थी का व्रत रखा जाता है इस दिन भगवान गणेश की विधिवत पूजा होती है।

24 जून- शुक्रवार- योगिनी एकादशी

आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को योगिना एकादशी के रूप में जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन पूजा करने से सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है और हजारों ब्राह्मणों को भोजन कराने के बराबर पुण्य की प्राप्ति होती है।

27 जून- सोमवार- मासिक शिवरात्रि व्रत

प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि का व्रत रखा जाता है। इसे महाशिवरात्रि के बराबर माना जाता है। ये दिन भगवान शिव को समर्पित होता है।

28 जून- मंगलवार- दर्श अमावस्या

अमावस्या तिथि 28 जून की सुबह 5 बजकर 54 मिनट से 29 जून की सुबह 8 बजकर 22 मिनट तक रहेगी। इसलिए 28 जून को श्राद्ध अमावस्या और 29 जून को स्नान-दान की अमावस्या मनाई जाएगी।

30 जून, बृहस्पतिवार- आषाढ़ गुप्त नवरात्रि प्रारंभ

30 जून से गुप्त नवरात्रि की शुरुआत हो रही है। इन दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है।

Gupt Navratri 2022: कब से शुरू हो रही है आषाढ़ गुप्त नवरात्रि, जानिए घटस्थापना का मुहूर्त और तिथियां

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

Edited By: Shivani Singh