Jaya Ekadashi 2021: आज जया एकादशी है और आज का दिन बाकी की सभी एकादशियों की तरह भगवान विष्णु को समर्पित होता है। यह व्रत सभी व्रतों में श्रेष्ठतम माना जाता है। यह एकादशी हर वर्ष माघ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को आती है। मान्यता है कि जया एकादशी के दिन अगर पूरे विधि-विधान के साथ भगवान विष्णु की पूजा की जाए तो व्यक्ति को उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। साथ ही उसे जीवन के सभी कष्टों से छुटकारा भी मिल जाता है। साथ ही भक्तों पर मां लक्ष्मी की कृपा भी बरसती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, जया एकादशी के दिन अगर श्री हरि का नाम जपा जाए तो उस व्यक्ति को पिशाच योनि का भय नहीं रहता है।

जया एकादशी के दिन भूलकर न करें ये काम:

1. एकादशी के दिन अगर आप व्रत कर रहे हैं तो भूलकर भी इस जुआ न खेलें। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अगर ऐसा किया जाए तो व्यक्ति के वंश का नाश हो जाता है।

2. एकादशी व्रत में रात को सोना नहीं चाहिए। रात जागकर विष्णु जी के मंत्रों का जाप और जागरण करना चाहिए।

3. इस दिन किसी भी चीज को बिना बताए नहीं उठाना चाहिए या यूं कहें कि भूलकर भी चोरी नहीं करनी चाहिए। अगर ऐसा किया जाए तो ऐसा करने से 7 पीढ़ियों को उसका पापा लगता है।

4. इस दिन खान-पान और व्यवहार पर संयम रखना चाहिए। इस दिन सात्विकता बरतें तो बेहतर होता है।

5. इस दिन जो व्यक्ति व्रत करता है उसे किसी भी अन्य व्यक्ति के साथ कठोर शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। साथ ही क्रोध और झूठ बोलने से बचना चाहिए।

6. इस दिन सुबह ब्रह्ममुहूर्त या जल्दी उठना चाहिए। वहीं, शाम के समय सोना भी नहीं चाहिए।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।' 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप