नई दिल्ली, Janmashtami 2022: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जन्माष्टमी के दिन कुछ नियमों का जरूर पालन करना चाहिए। इसके साथ-साथ कुछ ऐसी चीजें भी है, जिन्हें कृष्ण जन्माष्टमी के दिन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं कि जन्माष्टमी के दिन कौन से काम करने की है मनाही।

इस साल जन्माष्टमी का पर्व 18 और 19 अगस्त को मनाया जा रहा है। आज के दिन भगवान श्री कृष्ण का जल और से जलाभिषेक करने का विशेष महत्व है। इसके साथ ही स्नान के बाद श्रृंगार करने से कान्हा जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। माना जाता है कि जन्माष्टमी के दिन व्रत रखने के साथ भगवान कृष्ण का रात 12 बजे जन्मोत्सव मनाने से सुख-समृद्धि, धन-वैभव की प्राप्ति होती है। भगवान कृष्ण की कृपा से हर काम में सफलता प्राप्त होती है। 

जन्माष्टमी पर न करें ये काम

न तोड़े तुलसी दल

भगवान विष्णु को तुलसी सबसे प्रिय मानी जाती है। इसी कारण श्री हरि के आठवें अवतार भगवान श्री कृष्ण को भी तुलसी दल चढ़ाना शुभ माना जाता है। लेकिन जन्माष्टमी के दिन तुलसी की पत्तियां नहीं तोड़नी चाहिए।

इस तरह न करें श्रीकृष्ण के दर्शन

वेद शास्त्रों के अनुसार, जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण के दर्शन करना शुभ माना जाता है। लेकिन माना जाता है कि श्रीकृष्ण की पीठ के दर्शन नहीं करना चाहिए। क्योंकि उनकी पीठ पर अधर्म का वास होता है। इसलिए अगर कोई व्यक्ति श्रीकृष्ण की पीठ का दर्शन करता है तो उसके जीवन में अधर्म बढ़ जाता है।

काले रंग का न करें इस्तेमाल

वेद शास्त्रों के अनुसार, भगवान कृष्ण को न ही काले रंग की चीज अर्पित करना चाहिए और न ही व्यक्ति को काले रंग के कपड़े पहनकर पूजा करना चाहिए। क्योंकि काला रंग शनि से संबंधित है। इसके साथ ही यह अशुभ माना जाता है।

न करें इन चीजों का सेवन

एकादशी की तरह जन्माष्टमी के दिन चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा आज के दिन लहसुन-प्याज जैसे तामसिक भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इन चीजों का सेवन करने से क्रोध बढ़ता है और दिमाग शांत नहीं रहता है। इसलिए जन्माष्टमी के दिन इन चीजों का सेवन न करें।

Pic Credit- Pixabay

डिसक्लेमर

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shivani Singh