Navratri Do's And Don'ts: देवी दुर्गा को समर्पित नवरात्रि का नौ दिवसीय त्योहार आज से शुरू हो रहा है। इन नौ दिनों के दौरान प्रथम दिन कलश स्थापन की जाती है और इस दिन से नौ दिन के व्रत रखे जाते हैं। अश्विन मास में आने वाली शारदीय नवरात्रि सभी नवरात्रियों (माघ, चैत्र और आषाढ़) में सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। इसके लिए कई तरह के अनुष्ठान किए जाते हैं। इस दौरान व्रत का विशेष उल्लेख मिलता है। हालांकि, नवरात्रि के दौरान कुछ बातें ऐसी हैं जिनका ध्यान हम सभी को रखना चाहिए। आइए जानते हैं इन बातों के बारे में।

नवरात्रि के दौरान ये करें:

  • नवरात्रि के दौरान भक्तों को ब्रह्मचर्य बनाए रखना चाहिए। नवरात्रि में आत्मनिरीक्षण, आत्म-साक्षात्कार, आत्म-अनुशासन, आत्म-नियंत्रण और आध्यात्मिक जागृति के लिए होती हैं। इसके लिए तपस्या करना अत्यंत महत्व रखता है।
  • इस दिन व्यक्ति को जल्दी उठना चाहिए। साथ ही व्रत को ईमानदारी और निष्ठा के साथ करना चाहिए।
  • दुर्गा सप्तशती और देवी मां के मंत्रों का सच्चे मन से जाप करें।
  • सूर्यास्त के बाद ही भोजन करना चाहिए। पूरे नवरात्रि सात्विक भोजन ही करना चाहिए।
  • प्रतिदिन मंदिर जाना चाहिए और देवी मां को जल अर्पित करना चाहिए।
  • नौ दिनों तक देवी मां का विशेष श्रृंगार करना चाहिए।
  • अष्टमी-नवमीं पर देवी मां की विशेष पूजा करना चाहिए।

नवरात्रि के दौरान क्या न करें:

  • नवरात्रि के दौरान प्याज, लहसुन और अन्य तामसिक भोजन ग्रहण नहीं करना चाहिए।
  • मांस / मदिरा का सेवन भी इस दौरान नहीं करना चाहिए। तंबाकू का सेवन भी नहीं करना चाहिए।
  • बाल, नाखून, दाढ़ी नहीं काटनी चाहिए।
  • किसी के मन को ठेस नहीं पहुंचानी चाहिए। दूसरों के साथ विनम्र रहें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। ' 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस