Guru Nanak Dev Jayanti 2019 Updesh: सिख धर्म के संस्थापक और उनके प्रथम गुरु नानक देव जी का 550वां जन्मदिवस कल यानी मंगलवार को है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन नानक देव जी का जन्म हुआ था, इसे प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष 550वें प्रकाश पर्व की तैयारियां कर ली गई हैं। गुरु नानक देव जी ने समाज को एक नई सोच और दिशा दी। उन्होंने सामाजिक कुरीतियों का विरोध किया और सामाजिक भाईचारे को बढ़ावा देने का संदेश दिया। साथ ही मूर्ति पूजा का विरोध करते हुए ईश्वर नाम के जप को प्राथमिकता दी। उन्होंने ने समाज में व्याप्त ऊँच-नीच, जात-पात के माहौल को खत्म करने के लिए सबसे पहले लंगर का प्रारंभ किया। इसमें हर वर्ग के लोग आते हैं और पंक्ति में बैठकर एक साथ भोजन करते हैं। उनके दिए गए उपदेशों को अपनाकर हम अपने मनुष्य जीवन को सफल बना सकते हैं। आइए जानते हैं गुरु नानक देव जी के उन महत्वपूर्ण उपदेशों के बारे में।

गुरू नानक देव जी के उपदेश

1. ईश्वर एक है, सदैव उस ईश्वर की उपासना करो।

2. ईश्वर हर जगह व्याप्त हैं, वह सभी प्राणियों में हैं। उन पर विश्वास रखना चाहिए।

3. ईश्वर की आराधना करने वाले व्यक्ति को कभी भी किसी से डरना नहीं चाहिए।

4. आप ईमानदारी से मेहनत करें और अपना भरण-पोषण करें।

5. किसी भी व्यक्ति को बुरा कार्य नहीं करना चाहिए और न ही इसके बारे में कभी सोचना चाहिए।

6. अपने किए गए गलतियों के लिए ईश्वर से क्षमा प्रार्थना करनी चाहिए। साथ ही व्यक्ति को सदैव प्रसन्न रहना चाहिए।

Guru Nanak Dev: कौन हैं गुरु नानक देव, जानें उनके जीवन से जुड़ी ये 10 महत्वपूर्ण बातें

7. इस संसार में सभी स्त्री और पुरुष एक समान हैं, उनमें कोई भी कम या ज्यादा नहीं है।

8. आपने अपने जीवन में मेहनत और ईमानदारी से जो कुछ भी अर्जित किया है, उसमें से कुछ हिस्सा गरीबों को दान कर देना चाहिए। उनकी मदद करनी चाहिए।

9. नानक देव जी ने कहा है कि किसी भी इंसान को लोभ, अहंकार और ईर्ष्या नहीं करना चाहिए।

10. केवल स्वयं के विषय में सोचकर वस्तुओं और धन का संचय करना बुरी बात है।

Posted By: Kartikey Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप