मुंबई। दस दिन तक चला गणेशोत्सव सोमवार को समाप्त हो रहा है। अनंत चतुर्दशी के इस मौके पर देशभर में गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा।

महाराष्ट्र समेत देशभर में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। सुबह से ही पंडालों में गणेश भक्तों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। मुंबई में लाल बाग के राजा के दर्शन के लिए लंबी कतारें लगी हुई हैं।

देश के कई स्थानों पर नदियों में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन पर पाबंदी लगी हुई है। वहां विसर्जन के लिए विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। गणपति विसर्जन को देखते हुए वेस्टर्न और सेंट्रल रेलवे ने मुंबई में देर रात तक विशेष लोकल ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया है। यहां चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं।

वहीं, देश के कई भागों में रविवार को ही गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। दिल्ली और इसके आसपास के क्षेत्रों में इस दौरान भव्य शोभा यात्राएं निकाली गई। श्रद्धालुओं ने गणपति बप्पा मोरया और जय माता दी के उद्घोष से वातावरण को भक्तिपूर्ण बना दिया। इसमें मां दुर्गा की प्रतिमाएं भी शामिल की गई थीं। श्रद्धालुओं ने एक-दूसरे को अबीर-गुलाल लगाया और ढोल नगाड़े की धुन पर जमकर डांस किया। गीतों के माध्यम से भगवान श्रीगण्ेश व माता के रूपों का गुणगान किया गया। रविवार शाम श्रद्धालुओं ने यमुना नदी के कुदेसिया घाट पर पहुंचकर भगवान श्रीगणेश व मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन किया। मूर्ति विसर्जन का कार्यक्रम देर शाम तक चलता रहा। कार्यक्रम के दौरान मटकी फोड़ने का भी आयोजन किया गया। अहमदाबाद में भी साबरमती नदी में श्रद्धालुओं ने गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया।

पढ़े: यहां अनंत चौदस पर चोरी होती हैं गणेश प्रतिमाएं

गणेश जी का पेट या कुबेर का धन - कौन बड़ा है?

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप