Feng Shui Tips of Wind Chimes: चीनी वास्तुशास्त्र फेंगशुई में विंड़ चाइमस को पॉजिटिविटी का प्रतीक माना जाता है। फेंगशुई के अनुसार विंड़ चाइम्स से निकलने वाली ध्वनि एक और मानसिक सुकून प्रदान करती है तो दूसरी और आपके घर में पॉजिटिविटी का संचार भी करती है।विंड चाइम्स अलग-अलग धातु और तरीके की बनाई जाती हैं। फेंगशुई में इनके अलग-अलग प्रयोग भी हैं। सही दिशा और सही जगह पर लगाई गई विड़ चाइम्स घर के वास्तुदोष को भी दूर करती है। आइए जानते हैं कि विंड चाइम को घर की किस दिशा और किस जगह पर लगाना होता है सबसे ज्यादा लाभदायक....

1-पूर्व दिशा को वास्तुशास्त्र और फेंगशुई दोनों में ही पॉजिटिविटी का मूल दिशा माना जाता है। इस दिशा में घर के मेन गेट या खिड़की पर विंड चाइम को लगाना घर में सुख-समृद्धि लाता है और निगेटिविटी को दूर रखता है।

2- उत्तर दिशा में लगी हुई विंड चाइम करियर में तरक्की और सफलता दिलाने में मददगार होती है। स्टूडेन्टस को अपने स्टडी रूम की उत्तर दिशा की खिड़की में विंड चाइम लगानी चाहिए।

3-पश्चिम दिशा में लगाई गई विंड चाइम बच्चों के जीवन में सौभाग्य को आकर्षित करते हैं और परिवार के मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि लाती है।

4-दक्षिण दिशा में लकड़ी की विंड चाइम लगान उपयुक्त होता है। दक्षिण और दक्षिण पूर्व दिशा में लगी विंड चाइम धन लाभ करती है। घर में आने वाली आय में वृद्दि होती है।

5- उत्तर पश्चिम दिशा में लगाई गई मेटल विंड चाइम आपकी तरक्की के द्वार खोल देगी।

6- इसके साथ ही विंड चाइम लगाते समय ध्यान रखना चाहिए कि 6 से 8 रॉड वाली विंड चाइम सबसे ज्यादा उपयुक्त होती है।

7- दक्षिण पश्चिम दिशा में विंड चाइम को नहीं लगाना चाहिए। ये आपके परिवार में आपसी संबंधों और प्रेम-प्यार पर विपरीत असर डालता है।

8- घर के शौचालय और स्टोर रूम में भी विंड चाइम नहीं लगानी चाहिए। ये विपरीत प्रभाव उत्पन्न करती है।

डिस्क्लेमर

''इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना में निहित सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्म ग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारी आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।''

 

Edited By: Jeetesh Kumar