नई दिल्ली, Chaturmas 2022 horoscope: हिंदू पंचांग के अनुसार, 10 जुलाई को देवशयनी एकादशी के साथ भगवान विष्णु 4 मास के लिए योग निद्रा में चले जाएंगे। इसके बाद 4 नवंबर को देवउठनी एकादशी के साथ भगवान विष्णु फिर जाग जाएंगे। चातुर्मास शुरू होते ही मांगलिक और शुभ काम की मनाही हो जाती है। इस दौरान भगवान विष्णु के अलावा भोलेनाथ की पूजा करना शुभ माना जाता है। चातुर्मास का धार्मिक महत्व होने के साथ-साथ ज्योतिषीय महत्व भी है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, चातुर्मास के दौरान कुछ राशियों को काफी लाभ मिलने वाला है। जानिए किन राशियों के ऊपर रहेगी भगवान विष्णु की कृपा।

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के ऊपर भगवान विष्णु की खास कृपा रहेगी। इस राशि के जातकों को बिजनेस में लाभ मिलेगा। नौकरी में पदोन्नति मिलेगी। इसके साथ ही किसी भी कार्य को करने से सफलता जरूर प्राप्त होगी। भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए रोजाना विष्णु जी के सामने घी का दीपक जलाएं।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए भी चातुर्मास काफी लाभकारी साबित हो सकता है। इस राशि के जातकों को बिजनेस और नौकरी में विशेष लाभ मिलेगा।लंबे समय से रूका हुआ काम पूरा होगा। वहीं नए काम को शुरू करना चाहते है, तो चातुर्मास के दौरान न करें। शुभ फलों की प्राप्ति के लिए भगवान विष्णु की पूजा के साथ सहस्त्रनाम पाठ का नाम करें।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के लिए चातुर्मास काफी शुभ जाने वाला है। नौकरी-व्यापार में वृद्धि के साथ करियर को एक नई उड़ान मिलेगी। संतान की तरफ से कोई खुशखबरी मिल सकती है। सोचे हुए कार्य भी पूरे होंगे। चातुर्मास के दौरान रोजाना गाय को रोटी खिलाना शुभ होगा।

कर्क राशि

कर्क राशि वालों के लिए चातुर्मास काफी अच्छा जाने वाला है। जहां व्यापार में लाभ मिलेगा। वह हर किसी पर विश्वास करने से बचें। चातुर्मास के दौरान किसी नए बिजनेस में पैसे लगाने से बचना चाहिए। भगवान विष्णु जी की कृपा पाने के लिए मंत्रों का जाप करें। इसके साथ ही गाय को हरी घास या रोटी खिलाएं।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वालों पर भगवान श्री हरि की कृपा बनी रहेगी। हर क्षेत्र में सफलता पाने के पूरे आसार है। वहीं बिजनेस में काफी धन लाभ मिलने के आसार दिख रहे हैं। धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी।

Pic Credit- Instagram/artisangrah

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

Edited By: Shivani Singh