नई दिल्ली, Ashadha Gupt Navratri Ke Upay:  आषाढ़ मास में पड़ने वाली नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि के नाम से जाना जाता है। गुप्त नवरात्रि में तंत्र साधना का विशेष महत्व है। गुप्त नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के साथ 10 महाविद्याओं की पूजा फलदायी होता है। इन नौ दिनों में भगवती की पूजा करने के साथ नियमित रूप से हवन करना लाभकारी होगा। इसके साथ-साथ गुप्त नवरात्रि के दौरान इन उपायों को भी अपना सकते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, गुप्त नवरात्रि में इन उपायों को करने से मां भगवती का आशीर्वाद बना रहता है। इसके साथ ही सुख-समृद्धि और सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

आषाढ़ गुप्त नवरात्रि पर करें ये उपाय

मनोकामना पूर्ण करने के लिए

गुप्त नवरात्रि के दौरान दुर्गा सप्तशती का पाठ करना लाभकारी होता है। इसलिए रोजाना इस पाठ को करें। इसके साथ ही अंत में कन्याओं को भोजन कराएं। ऐसा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।

कष्टों से छुटकारा पाने के लिए

गुप्त नवरात्रि के दौरान दस महाविद्याओं की पूजा करने का विधान है। इसदिन नवरात्रि के दौरान मां काली, मां तारा, मां त्रिपुरासुंदरी, मां भुवनेश्वरी, मां छिन्नमस्ता, मां त्रिपुराभैरवी, मां धूमावती, मां बगलामुखी, मां मातंगी और मां कमला के मंत्रों का जाप करें। इससे सभी कष्टों से व्यक्ति को छुटकारा मिल जाएगा।

नौकरी-बिजनेस में बढ़ोत्तरी के लिए

गुप्त नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा को लाल रंग का फूल चढ़ाएं। इसके साथ ही हवन करते समय चावल की खीर में शहद मिलाकर आहुति दें। ऐसा करने से बिजनेस और नौकरी में तरक्की मिलेगी। इसके साथ ही घर में सकारात्मक वातावरण रहेगा।

पैसों की तंगी से छुटकारा पाने के लिए

गुप्त नवरात्रि के दौरान मां भगवती के सामने चांदी की डिब्बी में सियार सिंगी रख जें। इसके बाद विधिवत पूजा कर लें। फिर पुष्य नक्षत्र देखकर इस सियार सिंगी पर सिंदूर चढ़ाएं। ऐसा करने से पैसों की तंगी से छुटकारा मिल जाएगा।

विवाह में आ रही अड़चन के लिए

विवाह संबंधी समस्याओं के लिए गुप्त नवरात्रि के दौरान हर रात को मां दुर्गा को लाल रंग के फूलों का माला चढ़ाएं। इसके साथ ही घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से व्यक्ति को लाभ मिलेगा।

Pic Credit- Instagram/jagatjanni_durga_maa

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

Edited By: Shivani Singh