मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

वामन जयन्ती को वामन द्वादशी के नाम से भी जाना जाता है। यह 10 सितंबर दिन मंगलवार को पड़ रहा है। वहीं, अनंत चतुर्दशी, कदली व्रत पूजन और उमा महेश्वर पूजन इसी सप्ताह हैं। पितृ पक्ष श्राद्ध भी इस सप्ताह से ही प्रारंभ हो रहा है। आइए जानते हैं इस सप्ताह के व्रत एवं त्योहारों के बारे में —

09 सितंबर: परिवर्तिनी एकादशी व्रत।

इसे पार्श्व एकादशी, वामन एकादशी, जलझूलनी एकादशी, पद्मा एकादशी, डोल ग्यारस और जयंती एकादशी भी कहा जाता है। परिवर्तिनी एकादशी को भगवान विष्णु के वामन अवतार की विधि विधान से पूजा-अर्चना की जाती है।

10 सितंबर: वामन जयन्ती, कल्की द्वादशी, अशुरा का दिन, मोहर्रम।

राजा बलि के अत्याचार से लोगों की रक्षा के लिए भगवान विष्णु ने वामन अवतार लिया था। इसे वामन जयंती या वामन द्वादशी कहा जाता है।

11 सितंबर: गो त्रिरात्र व्रत। गुरु रामदास गुरयाई दिवस।

12 सितंबर: अनंत चतुर्दशी व्रत। कदली व्रत पूजन।

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को अनंत चतुर्दशी व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान श्री हरि विष्णु के अनंत स्वरूप की पूजा की जाती है, जिससे भक्तों के सभी कष्टों का निवारण हो जाता है।

13 सितंबर: व्रत की पूर्णिमा। पूर्णिमा श्राद्ध।

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से पितृ पक्ष श्राद्ध का प्रारंभ माना जाता है, जो आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तक चलता है। इस वर्ष पितृ पक्ष श्राद्ध 13 सितंबर दिन शुक्रवार से प्रारंभ होकर 28 सितंबर दिन सोमवार तक चलेगा।

14 सितंबर: प्रतिपदा श्राद्ध। उमा महेश्वर पूजन।

15 सितंबर: आश्विन मास कृष्ण पक्ष आरंभ। द्वितीया श्राद्ध।

16 सितंबर: तृतीया श्राद्ध।

 

Posted By: kartikey.tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप