PreviousNext

इस शुक्रवार देवी लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नामों के जाप से उन्‍हें करें प्रसन्‍न

Publish Date:Thu, 28 Dec 2017 04:36 PM (IST) | Updated Date:Fri, 29 Dec 2017 08:00 AM (IST)
इस शुक्रवार देवी लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नामों के जाप से उन्‍हें करें प्रसन्‍नइस शुक्रवार देवी लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नामों के जाप से उन्‍हें करें प्रसन्‍न
शुक्रवार को पूजा से लक्ष्मीजी सहज ही प्रसन्‍न हो जाती हैं। ऐसे में यदि पूजा के साथ देवी के आठ पुत्रों के नामों का भी जाप करें तो होती है उनकी विशेष कृपा।

पूजा के साथ करें खास मंत्रों का जाप 

शुक्रवार को पूजा के समय प्रात:काल स्‍नान आदि के बाद देवी की प्रतिमा के सामने दीपक जलाकर पूजा करने और कुछ विशेष मंत्रों का जाप करने से आर्थिक संकटों से मुक्‍ति मिलती है। इसके साथ ही इस दिन एक और विशेष उपाय करें तो समृद्धि की सहज प्राप्ति हो सकती है। इसके लिए मां लक्ष्मी के 18 पुत्रों के नामों के मंत्रों का पाठ करें। 

18 पुत्रों के नामों के मंत्र

धन धान्‍य की देवी लक्ष्मी के 18 पुत्र माने जाते हैं। शुक्रवार के दिन इनके नाम के आरंभ में 'ऊं' और अंत में 'नम:' लगाकर जाप करने से मनचाहे धन की प्राप्ति होती है। ये नाम मंत्र इस प्रकार हैं- 1. ऊं देवसखाय नम:, 2. ऊं चिक्लीताय नम:, 3. ऊं आनंदाय नम:, 4. ऊं कर्दमाय नम:, 5. ऊं श्रीप्रदाय नम:, 6. ऊं जातवेदाय नम:, 7. ऊं अनुरागाय नम:, 8. ऊं संवादाय नम:, 9. ऊं विजयाय नम:, 10. ऊं वल्लभाय नम:, 11. ऊं मदाय नम:, 12. ऊं हर्षाय नम:, 13. ऊं बलाय नम:, 14. ऊं तेजसे नम:, 15. ऊं दमकाय नम:, 16. ऊं सलिलाय नम:, 17. ऊं गुग्गुलाय नम:, 18. ऊं कुरूंटकाय नम:।

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Make happy to Goddess Lakshmi with chanting the names of her sons on Friday(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

हर गुरूवार जरूर करें विष्‍णु जी की पूजास्‍वर्ग के खुल जायेंगे द्वार अगर वैकुंट एकादशी पर पूजा करेंगे इस प्रकार