प्रारंभ करें गणपति पूजन 

बुधवार के दिन कुछ सरल उपाय करने से व्यक्ति की बाधा, संकट, रोग, और दरिद्रता दूर हो जाती है। अत बुधवार का लाभ उठायें और विधि विधान से गणेश पूजा कर विनायक को प्रसन्‍न करें। इस दिन सुबह उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत होकर अगर आपके घर पर गणपति की प्रतिमा है तो घर पर ही, नहीं तो गणेश जी के मंदिर में जाकर दूर्वा की 11 या 21 गांठें अर्पित करें। इसके अलावा यदि कार्यों में बार-बार असफलता हाथ लगती है, तो बुधवार से श्रीगणेश के मंत्र का जाप भी शुरु कर दें।  

गुड़ और घी का लगाएं भोग

पंडितों का मानना है कि बुधवार के दिन श्री गणेश की विधिवत पूजा करने के बाद गुड़ और घी का भोग लगाएं। थोड़ी देर के बाद ये भोग गाय को खिला दें। इसे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस दिन यदि घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापना करें तो इसे अत्‍यंत शुभ माना जाता है। सफेद मोदक का प्रसाद चढ़ाना और ग्रहण करना भी ना भूलें। इससे घर में और मन में शांति बनी रहेगी।  

शमी के पत्‍ते चढाएं

इसके साथ ही कहते हैं कि बुधवार के दिन गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करने से तीक्ष्ण बुद्धि होती है और ग्रह कलह का भी नाश होता है, इसलिए उनको शमी पत्र से प्रसन्‍न करें। इसके अलावा लंम्‍बोदर पर लाल सिंदूर और बूंदी के लड्डू भी अर्पित करें।  

Posted By: Molly Seth